ब्रेकिंग न्यूज़
06_10_2021-corona_896698
COVID 19 प्रदेश बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़ स्वास्थ्य

भोपाल में संक्रमित ज्यादा, सैंपलिंग कम:टेस्टिंग में इंदौर,जबलपुर से पीछे,12 दिन में हर दूसरा पॉजिटिव भोपाल का; अब अफसर दे रहे सफाई

भोपाल

कोरोना की तैयारी के अलर्ट और टेस्टिंग बढ़ाने के दावों पर भोपाल में ही सवाल खड़े हो गए हैं। भोपाल प्रशासन अब तक टेस्टिंग नहीं बढ़ा सका, जबकि यहीं सबसे ज्यादा केस निकल रहे हैं। डेटा बता रहा है कि चिंताजनक श्रेणी वाले शहरों में शामिल भोपाल वर्तमान में टेस्टिंग में इंदौर, जबलपुर से पीछे है।

चिंता इसलिए है कि पिछले तीन दिनों से सबसे ज्यादा प्रकरण भोपाल में मिले हैं। यह प्रदेश के कुल केस का 65% है। पिछले 12 दिनों में 188 मामले सामने आए हैं। उसमें सबसे अधिक 80 केस भोपाल में मिले हैं। एक मौत भी यहीं हुई है। अफसर आरटीपीसीआर और रैपिड के अलग-अलग आंकड़े गिनाकर सफाई दे रहे हैं।

यह है स्थिति

मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटे में 58 हजार से ज्यादा टेस्ट हुए। इनमें से 5800 के करीब टेस्ट इंदौर में किए गए, जबकि 5200 जबलपुर में। इंदौर में 5 और जबलपुर में दो केस मिले हैं। भोपाल की बात करें, तो यहां सबसे ज्यादा नौ केस मिले हैं। टेस्टिंग सबसे कम 3800 हुई है।

मुख्यमंत्री जता चुके हैं भोपाल के लिए चिंता

CM शिवराज सिंह चौहान भोपाल, इंदौर और जबलपुर को लेकर चिंता जता चुके हैं। अभी इन जिलों में 90% तक संक्रमित मिल रहे हैं। इनमें भी सबसे ज्यादा हिस्सेदारी भोपाल की है। 28 से 30 नवंबर के बीच में भोपाल में 65% केस मिल चुके हैं। यानी एक तिहाई केस अकेले भोपाल में ही मिल रहे हैं। प्रदेश में मिलने वाले संक्रमितों में एवरेज दूसरा संक्रमित भोपाल का ही है। बावजूद टेस्टिंग में लापरवाही बरती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग टेस्टिंग को लेकर गंभीर नहीं दिख रहा। यही कारण है कि टेस्टिंग के मामले में भोपाल इंदौर और जबलपुर से भी पीछे हैं।

ऐसे समझिए कोरोना केस का नया ट्रेंड

कोरोना पॉजिटिव के आंकड़ों में भोपाल इंदौर से भी आगे निकल गया है। 3 दिन के भीतर ही भोपाल में केस मिलने का ट्रेंड बदल गया है। 28 से 30 नवंबर के बीच में भोपाल में 65% केस मिले और मध्यप्रदेश में उसकी हिस्सेदारी डबल हो गई। दूसरी ओर, इसी अवधि में इंदौर में 38% केस मिले हैं। इससे पहले 25 से 27 नवंबर के बीच इंदौर में 48% केस मिले थे। इसके पीछे टेस्टिंग और अवेयरनेस प्रमुख वजह रही।

इंदौर की तुलना में 2 हजार टेस्ट कम

भोपाल में इंदौर के मुकाबले कोरोना के 2 हजार टेस्ट कम हो रहे हैं। 30 नवंबर की बात करें तो इंदौर में 5871 हुए थे और 5 पॉजिटिव मिले थे। वहीं, जबलपुर में 5227 टेस्ट में से 2 केस पॉजिटिव निकले। भोपाल में 3845 लोगों की कोरोना जांच हुई। इनमें 9 पॉजिटिव निकले।

आरटीपीसीआर के साथ रेपिड भी कर रहे हैं : सीएमएचओ

भोपाल के CMHO डॉ. प्रभाकर तिवारी का कहना है कि आरटीपीसीआर के साथ रेपिड टेस्ट भी कर रहे हैं, जिससे आंकड़ा 5 हजार से अधिक है। अब टेस्टिंग बढ़ा रहे हैं। रोज 6-7 हजार टेस्ट करेंगे।

संबंधित पोस्ट

विदेशी न्यायाधिकरण ने असम में 1 लाख से अधिक लोगों को विदेशी किया घोषितः अतुल बोरा

Khabar 30 din

लगातार बढ़ रहे जंगली जानवरों के हमले, बाघ ने किया युवक पर हमला

Khabar 30 Din

झीरम घाटी नक्सली हमला: छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 29 सितंबर को करेगा सुनवाई

Khabar 30 din

भारती सिंह ने कबूला गांजे का सेवन, एनसीबी ने इस तरह जोड़ीं ​कड़ियां

Khabar 30 Din

दादा का सपना पूरा करने प्राची बनी डिप्टी कलेक्टर:2019 में भी सिलेक्ट हुई थीं, लेकिन लक्ष्य बड़ा था इसलिए मेहनत करना नहीं छोड़ा

Khabar 30 din

MP में अब तीसरी लहर की चिंता:चिकित्सा शिक्षा मंत्री बोले- हम सुविधाएं बढ़ा रहे; हकीकत- 75% मरीज होम आइसोलेशन में फिर भी ICU के 10 हजार में से 936 बेड ही बचे

Khabar 30 din
error: Content is protected !!