आगरा पुलिस कांग्रेस की फायर ब्रांड नेत्री शबाना खंडेलवाल (Shabana Khandelwal) को खोज रही थी और वह सोमवार को अचानक राजधानी लखनऊ पहुंचकर भाजपाई हो गईं।  मजे की बात यह है कि वह एक दिन पहले तक भाजपा के खिलाफ जमकर मोर्चा खोले हुई थीं। रविवार को उनके निवास पर ऑल इंडिया उलेमा बोर्ड की बैठक हुई। इस बैठक में शबाना खंडेलवाल को ऑल इंडिया उलेमा बोर्ड महिला विंग का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया।

बैठक के बाद शबाना खंडेलवाल ने मथुरा कृष्ण जन्मभूमि को आब-ए-जमजम (Aab-e-Jamzam)  (मक्का मदीना का पवित्र जल) पिलाने का ऐलान किया।  इसके बाद आगरा पुलिस उनकी तलाश करने लगी। वह आगरा के खंदारी स्थित निर्भय नगर में अपने घर से गायब मिली। पुलिस शबाना की तलाश में दबिश दे रही थी कि सोमवार को अचानक वह लखनऊ पहुंची और लक्ष्मीकांत बाजपेयी व स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।  आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शबाना खंडेलवाल ने हिन्दू व्यक्ति से शादी की थी।