सूर्य पूत्र शनि देव मकर संक्रान्ति (Makar Sankranti) के बाद अपनी चाल और पेनी नजर को बहुत कुछ लोगों पर बनाए रखने वाले हैं। ज्योतिष के मुताबिक जब कोई ग्रह, सूर्य (Sun) के नजदीक पहुंच जाता है तब उसे अस्त माना जाता है। इसी तरह से शनि देव (Shani) भी 22 जनवरी को अस्त होने वाले हैं और फिर 24 फरवरी को उदय होंगे।

शनि ग्रह के अस्त होने से राशियों प्रभावित होगी और इससे राशियों के लोगों को सावधान रहने की जरूरत हैं। इन राशियों में शामिल हैं….
कर्क (Cancer)- कर्क राशि वालों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सेहत को लेकर सावधान रहना होगा। कार्यस्थल पर मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। कर्क राशि पर चंद्रमा का आधिपत्य है। वैदिक ज्योतिष में चंद्रमा और शनि ग्रह के बीच शत्रुता का भाव माना जाता है। ऐसे में नौकरी पेशा करने वाले लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।
मिथुन (Gemini)- शनिदेव का अस्त होना आपके लिए अच्छे परिणाम लेकर नहीं आएगा। मिथुन राशि वालों पर शनि ढैय्या चल रही है। इसलिए 33 दिनों तक आपको सावधान रहना होगा। वाहन आदि के प्रयोग में सावधानी बरतने की जरूरत है।
कन्या (Virgo)- कन्या राशि वालों को शनि अस्त के दौरान मेहनत का फल नहीं मिलेगा। कामकाज में बाधाएं आ सकती हैं। कार्यस्थल पर मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। सेहत बिगड़ सकती है, इसलिए खानपान में विशेष सावधानी बरतें।
तुला (Libra)- शनि अस्त का तुला राशि वालों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। कार्यस्थल पर छवि बिगड़ने की संभावना है। इस दौरान आपको काम में सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है। कई क्षेत्रों में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी के साथ अनबन हो सकती है।