ब्रेकिंग न्यूज़
IMG_20201224_151456
अनूपपुर कोरिया क्राईम छत्तीसगढ़ दिल्ली/एनसीआर प्रदेश बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़ भ्रष्टाचार मध्यप्रदेश साउथ ईस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड

Secl हसदेव एरिया के सिविल विभाग में हुए करोणों के घोटाले के मामले में सेंट्रल विजिलेंस ने शिकायत के आधार पर लिया संज्ञान

अब्दुल सलाम क़ादरी-एडिटर इन चीफ

कोरिया/अनुपपुर
एसईसीएल हसदेव एरिया कोल इंडिया की मात्र एक ऐसा एरिया है जिसकी माइन्स दोनो राज्यो मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में संचालित है, और कोयला खनिज रॉयल्टी माइंस के आधार पर दोनो राज्यो को दी जाती है। हसदेव एरिया बहुत बड़े क्षेत्रफल में फैला हुआ है और इसकी इकोनॉमी भी सिर्फ कोयला उत्पादन पर टिकी हुई है। कुछ वर्षों से जहाँ हसदेव एरिया में कोयला उत्पादन घटा है तो वही दो तीन सालों से कमीशन खोरी का खेल जमकर खेला जा रहा है, यही नही एसईसीएल विजिलेंस को भी पूरे कॉन्फिडेंस में लेकर यह कार्य किया जा रहा है। हमने सिविल विभाग में हुए घोटाले और गुडवत्ता विहीन कार्यो के बदले ली जाने वाली कमीशन के बारे में लिखित शिकायत भेजी थी जिसकी जांच का जिम्मा समस्त सब एरिया वाइज सिविल विभाग को ही सौप दिया गया, सिविल विभाग द्वारा हमे कार्यो की गुडवत्ता के सम्बंध में जो लिखित में सर्टिफिकेट प्रदान किया गया था जिसकी बारिकी से जांच करने में कुछ माह का वक्त लग गया, जब स्थिति स्पस्ट हुई तो हमने सेंट्रल विजिलेंस दिल्ली को ज्ञापन के माध्यम से मामला दर्ज करवा कर कार्यवाही की मांग की है।

वही हमने कई बार हसदेव एरिया के जीएम श्री कंझकर साहब से मिल कर उनका पच्छ जानने की कोशिश की गई पर उन्होंने मिलने से साफ मना कर दिया और हमारे फोन न0 को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया है। एक उच्चाधिकारी और पब्लिक सर्वेंट की ऐसी हरकत हर किसी को अचरझ में डाल रही है। खैर इससे कोई फर्क नही पड़ता है। क्योंकि इनके ऊपर भी उच्चाधिकारी बैठे हुए है जिन्हें इनकी पूरी करतूत भेजी जा रही है।

हसदेव एरिया में सिविल विभाग सोने की अंडे देने वाली मुर्गी साबित हो रही है। बहुत ही शातिर तरीके से इसका दोहन किया जा रहा है। सिविल इंजीनियर, ओवरसियर, बाबू-लिपिक इत्यादि जो सिविल विभाग से ताल्लुक रखते हैं इनकी सम्पत्ति की जांच की जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। हमने कई टेंडर की कॉपी को सुरक्षित रखा हुआ है जिसमे कोई कार्य ही नही हुआ है?, उन सभी टेंडरों की कॉपीयो को यहां प्रकाशित करना जरूरी नही है वरना शिकायत शिथिल हो सकता है।

नई दिल्ली स्थित केंद्रीय सतर्कता आयोग के समक्ष बैठकर हमने हसदेव एरिया के उन समस्त अधिकारियों को फो किया जिन्होंने हमारे न0 को डर कर ब्लैक लिस्टेड किया हुआ है यानी कि किसी भी मैटर पर उनसे संपर्क ना हो सके। हमारे द्वारा दर्जनों आरटीआई फाइल किये गए है सभी की एक एक कॉपी केंद्रीय सतर्कता आयोग को दे दी गई है। भरष्टाचार में डूबे अधिकारी आरटीआई के जवाब से दूर भागते नजर आते है। अरे जब ईमानदार हो तो आरटीआई के जवाब से डर कैसा?

खैर हम बात कर रहे है सिविल विभाग सोने के अंडे देने वाली मुर्गी की यहां यह कहावत सही होता नजर आ रहा है। हमारे द्वारा पूरे सबूतों के साथ केंद्रीय सतर्कता आयोग को शिकायत भेजी गई है जिसमे क्या कार्यवाही होती है यह देखने वाली बात होगी, यदि कार्यवाही नही होती है तो सीधा हाईकोर्ट का रुख किया जाएगा। परन्तु केंद्रीय सतर्कता आयोग ने हमे यह भरोसा दिलाया है कि यदि ऐसा हुआ है तो इसकी जांच की जाएगी और एसईसीएल के विजिलेंस अधिकारी से भी जवाब तलब किया जाएगा।

संबंधित पोस्ट

ठेकेदार पर हुए हमले में नक्सलियों की सफाई:नक्सली नेता साईनाथ ने प्रेस नोट जारी किया- नक्सलियों ने हमला नहीं किया, SP हमें बदनाम कर रहे हैं

Khabar 30 din

कांग्रेस के दो गुटों में बवाल, पोस्टर फाड़े:अम्बिकापुर में मंत्री अमरजीत भगत के बेटे और NSUI प्रदेश अध्यक्ष के साथ जिला कांग्रेस का विवाद

Khabar 30 din

जगदलपुर में 10 मेडिकल स्टाफ को कोरोना:मेडिकल कॉलेज में रखी थी फेयरवेल पार्टी, बाहरी के भी शामिल होने की चर्चा; सभी होम आइसोलेट

Khabar 30 din

राजस्थान के मंत्रिपरिषद में महिला मंत्रियों की संख्या बढ़कर तीन होगी

Khabar 30 din

जम्मू-कश्मीर में आतंकी साजिश नाकाम:सुरक्षा बलों ने बारामूला के उरी इलाके से 3 आतंकियों को गिरफ्तार किया; हथियार और गोला-बारूद भी बरामद

Khabar 30 din

यूपी: ‘लव जिहाद’ का आरोप लगाते हुए बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने मुस्लिम शख़्स की दुकान बंद करवाई

Khabar 30 din
error: Content is protected !!