ब्रेकिंग न्यूज़
58031122pti11032022000025b1667465673_1667659191
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ सोशल मीडिया

भिलाई में डायरिया से दो लोगों की मौत:42 गंभीर

भिलाई

भिलाई नगर निगम के कैंप-2 क्षेत्र में डायरिया का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को डायरिया से दो लोगों की मौत हो गई है,जबकि 42 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। पूरी घटना की जानकारी मिलते ही निगम कमिश्नर रोहित ब्यास, कलेक्टर,CMHO, महापौर समेत कई अधिकारी मरीजों से मिलने अस्पताल पहुंचे हैं।

बताया जा रहा है कि यह निगम की लापरवाही के चलते हुआ है। यहां के लोग काफी समय से जोन आयुक्त से गंदा पानी आने की शिकायत कर रहे थे, लेकिन जोन आयुक्त ने उनकी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया। इससे लोग डायरिया की चपेट में आ गए और दो लोगों की मौत हो गई है।भिलाई नगर निगम की लचर व्यवस्था के चलते कैंप 2 क्षेत्र में हाहाकार मचा हुआ है। मरने वालों में घासीदार नगर कैंप 2 निवासी कुश डहरिया (32 साल) और आदर्श नगर कैंप 2 निवासी एम माधवी (12 साल) के नाम शामिल हैं। अब भी 42 लोग डायरिया की चपेट में हैं। सभी को गंभीर हालत के चलते अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक महिला-पुरुष शामिल हैं। सीएमएचओ दुर्ग जेपी मेश्राम ने डायरिया से मौत की पुष्टि कर दी है।

डायरिया ने ली दो जानें
डायरिया ने ली दो जानें

निगम के स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने डायरिया से मौत होने की पुष्टि नहीं की है। सीएमएचओ डॉ. मेश्राम का कहना है कि जेपी नगर कैंप 2 क्षेत्र में गंदे पानी की वजह से डायरिया फैला है। वहां के हालात काफी खराब हैं। कैंप लगाया जा रहा है। टीम को भेजा गया है। लोगों की जांच कर उन्हें दवा वितरित की जा रही है। एक दर्जन से अधिक लोग अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं निगम के स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने इस मामले में कोई भी जानकारी होने से मना किया है। उनका कहना है कि, उन्हें आज ही इस बारे में जानकारी मिली है। गंदे पानी की शिकायत भी आज ही पता चली है। जोन कमिश्नर के पास शिकायत आई होगी तो उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी है। इस सबके लिए वही जिम्मेदार हैं।

डायरिया प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे निगम आयुक्त व उनकी टीम
डायरिया प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे निगम आयुक्त व उनकी टीम

इस तरह हुई दो मौतें
जानकारी के मुताबिक घासीदास नगर निवासी कुश डहरिया को 22 नवंबर से उल्टी दस्त की शिकायत हुई थी। उसकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई। इससे घरवालों ने उसे 23 नवंबर बुधवार को सुबह 6 बजे सिविल अस्पताल सुपेला में भर्ती कराया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं आदर्श नगर निवासी माधवी को भी 22 नवंबर को उल्टी दस्त की शिकायत हुई थी। परिजन उसे बीएम शाह हॉस्पिटल ले गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

डायरिया प्रभावित क्षेत्र पहुंची निगम की टीम
डायरिया प्रभावित क्षेत्र पहुंची निगम की टीम

संबंधित पोस्ट

कोरोना का नया वैरिएंट AY-4:इंदौर के 7 मरीजों के सैंपल में पुष्टि; एक्सपर्ट की चेतावनी- पुराने वैरिएंट से ज्यादा तेजी से फैल सकता है

Khabar 30 din

लाल मिर्च के टोटके से दूर होगी जीवन की हर बाधा, यहां जानिए तरीका

Khabar 30 din

मध्यप्रदेश की बदहाल स्वास्थ्य सेवा-इलाज नहीं मिला, मां की गोद में तोड़ा दम:जबलपुर में अस्पताल के बाहर रोती हुई मां पुकारती रही… बेटा उठ

Khabar 30 din

लॉकडाउन से लघु और मझोले उद्यम सर्वाधिक प्रभावित, 2020-2021 में इनका क़र्ज़ 20,000 करोड़ बढ़ा: आरटीआई

Khabar 30 din

ADG GP सिंह के यहां बेशुमार संपत्ति के दस्तावेज मिले:सीसीटीवी कैमरे का रिकॉर्डर गायब कर दिया गया; अभी तक 75 से अधिक बीमा पॉलिसी, बैंकों में जमा 1 करोड़ रुपए की गिनती, कई मकानों, जमीनों में निवेश के कागज भी मिले

Khabar 30 din

राजस्थान में शादी में शामिल हुए 100 से ज्यादा लोग, तो देना पड़ेगा इतना बड़ा जुर्माना

Khabar 30 din
error: Content is protected !!