ब्रेकिंग न्यूज़
बड़ी खबर

पाकिस्तान में महिला जर्नलिस्ट की हत्या:सरकारी टीवी चैनल की 27 साल की एंकर को गोली मारी; 28 साल में देश में 61 पत्रकारों की हत्या हुई

शाहीना शाहीन पत्रकार होने के साथ ही एक अच्छी पेंटर भी थीं। फरवरी में उनकी पेंटिंग्स की एक प्रदर्शनी क्वेटा में लगाई गई थी। यह फोटो उसी दौरान ली गई थी। -फाइल फोटो
  • महिला पत्रकार का नाम शाहीना शाहीन है, वे पाकिस्तान टीवी में एंकर और रिपोर्टर थीं
  • शाहीन को बलूचिस्तान के तुरबत में पांच गोलियां मारी गईं, उनको अस्पताल पहुंचाने वाला फरार

पाकिस्तान में शनिवार को एक महिला जर्नलिस्ट की गोली मारकर हत्या कर दी गई। शाहीना शाहीन सरकारी टीवी चैनल पाकिस्तान टीवी में एंकर और रिपोर्टर थीं। कुछ दिनों पहले ही उनका बलूचिस्तान के तुरबत में ट्रांसफर किया गया था। शाहीन के पहले पिछले साल मई में उरूज इकबाल नामक महिला पत्रकार की भी गोली मारकर हत्या की गई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1992 से अब तक यानी 28 साल में पाकिस्तान में 61 पत्रकारों की हत्या की जा चुकी है। इसी हफ्ते प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक इंटरव्यू में पाकिस्तान में पत्रकारों को सुरक्षित बताया था।

युवा पत्रकार थीं शाहीन
शाहीन पहले इस्लामाबाद में एक निजी टीवी चैनल के लिए काम करतीं थीं। इसके बाद उनका चयन सरकारी टीवी चैनल में हो गया। इस्लाबाद में कुछ महीने रहने के बाद शाहीन का ट्रांसफर बलूचिस्तान के तुरबत में हो गया। वे एक लोकल मैगजीन की एडिटर भी थीं। 27 साल की शाहीन क्वेटा यूनिवर्सिटी से पीएचडी भी कर रहीं थीं।

हत्यारे फरार
शाहीन की हत्या उनके घर में घुसकर की गई। पुलिस के मुताबिक, दो हमलावर उनके घर पहुंचे। दरवाजा खोलते ही शाहीन पर गोलियां चलाई गईं। शाहीन को पांच गोलियां लगीं। पुलिस के मुताबिक, एक अज्ञात व्यक्ति शाहीन को कार में लेकर अस्पताल पहुंचा। लेकिन, वो कुछ देर बाद गाड़ी वहीं छोड़कर फरार हो गया। पुलिस घटना की जांच कर रही है। शाहीन के परिवार ने कुछ लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कराया है। इनमें शाहीन का पति भी शामिल है। शाहीन की पांच महीने पहले ही शादी हुई थी।

सरकार ने दुख जताया
बलूचिस्तान सरकार के प्र‌वक्ता लियाकत शाहवानी ने घटना पर दुख जताया। कहा- हम शाहीन का कत्ल करने वालों की तलाश कर रहे हैं और बहुत जल्द हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। मीडिया वॉचडॉग फ्रीडम नेटवर्क ने भी घटना पर दुख जताते हुए कातिलों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

पाकिस्तान में पत्रकार महफूज नहीं
पिछले साल मई में महिला पत्रकार उरूज इकबाल की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वे एक निजी टीवी चैनल के लिए काम करती थीं। परिवार ने एक स्थानीय नेता पर हत्या करवाने का आरोप लगाया था। पुलिस ने इसे खारिज कर दिया था। अब तक कातिलों का पता नहीं लगाया जा सका है। उरूज की हत्या उनके ऑफिस के बाहर की गई थी। हमलावर कार से आए थे और बाद में आराम से फरार भी हो गए थे। 1992 से अब तक पाकिस्तान में 61 पत्रकारों की हत्या की जा चुकी है।

संबंधित पोस्ट

मोबाइल व्यापारी से 13 लाख रुपए की लूट:पखांजूर-राजनांदगांव मार्ग पर रात 11 बजे चाकू की दिखाकर वारदात को दिया गया अंजाम, दोनों व्यापारी दुकान से घर जा रहे थे

Khabar 30 din

आज वैक्सीनेशन:3 जुलाई को कोवैक्सिन और 5 जुलाई को कोवीशील्ड का सेकंड डोज ही लगेगा, भोपाल में 22 हजार डोज का टारगेट

Khabar 30 din

10 जून से भोपाल पूरा अनलॉक:सभी दुकानें खुलेंगी, कर्मचारियों का वैक्सीनेशन जरूरी होगा, अब सिर्फ संडे को लॉक रहेगी राजधानी

Khabar 30 din

किसान आंदोलन का 28वां दिन, सरकार की चिट्ठी पर आज फैसला लेंगे किसान

Khabar 30 din

कोरोना देश में:केंद्र ने हिमाचल, पंजाब, यूपी और छत्तीसगढ़ में हाई लेवल टीमें भेजीं; देश में अब तक 90.95 लाख केस

Khabar 30 Din

बड़ी खबर-चीन में कोरोना की वापसी: फ्लाइटें रद्द, स्कूल बंद; घर में कैद हुए लोग

Khabar 30 din