ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ मध्यप्रदेश

भोपाल में राहत की बारिश:राजधानी में 10 दिन बाद तेज पानी गिरा; लोगों को उमस-गर्मी से राहत, 13 को फिर बारिश होने का अनुमान

भोपाल में गुरुवार शाम तेज बारिश के कारण लोगों को राहत मिली। रेडक्रास अस्पताल के पास बने चौराहा का एक दृश्य।
  • बीते चौबीस घंटे में 25 मिमी से ज्यादा बारिश हो चुकी
  • पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र बन रहा

भोपाल में लगातार उमस और गर्मी के बीच गुरुवार देर शाम जमकर बारिश हुई। करीब 10 दिन बाद राजधानी में पानी गिरा है। हालांकि, बुधवार को बैरागढ़ में 25 मिमी से ज्यादा बारिश हुई थी, लेकिन भोपाल शहर में सिर्फ कुछ इलाकों में बौछारें ही गिरी थीं। मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ दिन इसी तरह से मौसम का मिजाज बदलता रहेगा। पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र बन रहा है। इससे 13 सितंबर को एक बार फिर तेज बारिश होने की उम्मीद बनी हई है।

बुधवार को भोपाल के कुछ इलाकों में बारिश हुई थी, लेकिन अधिक बारिश बैरागढ़ में 25 मिमी हुई थी। यह फोटो बुधवार शाम गुलमोहर इलाके का है।
बुधवार को भोपाल के कुछ इलाकों में बारिश हुई थी, लेकिन अधिक बारिश बैरागढ़ में 25 मिमी हुई थी। यह फोटो बुधवार शाम गुलमोहर इलाके का है।

भोपाल में जमकर गिरा पानी

राजधानी में गुरुवार को अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यह सामान्य ये 3 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। इसके बाद शाम को तेज बारिश हुई। इसके कारण शाम को कुछ इलाकों में बिजली जाने की शिकायतें भी कॉल सेंटर तक पहुंची। बुधवार रात का पारा भी सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस अधिक 24.8 डिग्री सेल्सियस तक रहा। बैरागढ़ में बुधवार को 25 मिमी से ज्यादा पानी गिरा था।

बैरागढ़ इलाके में दो दिन से लगातार बारिश हो रही है। यह फोटो गुरुवार शाम के समय बैरागढ़ जाने वाले रास्ते का है।
बैरागढ़ इलाके में दो दिन से लगातार बारिश हो रही है। यह फोटो गुरुवार शाम के समय बैरागढ़ जाने वाले रास्ते का है।

ऐसे समझे मानसून को

मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में मानसून ट्रफ लाइन अमृतसर, करनाल, मेरठ, बरेली, वाराणसी, डाल्टनगंज, बांकुरा और दीघा से होते हुए पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। पूर्व-मध्य अरब सागर में कर्नाटक तट के पास समुद्र तल से 2.1 किमी की ऊंचाई तक और गंगीय पश्चिम बंगाल के ऊपर समुद्र तल से 1.5 किमी की ऊंचाई पर है। एक ट्रफ लाइन पूर्व उत्तर प्रदेश से होकर विदर्भ तक गुजर रही है। 13 सितंबर के आसपास पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र विकसित होने की संभावना बनी हुई है। इसी से ट्रफ लाइन और निम्न दाब के कारण ही बारिश भोपाल में बारिश होने की संभावना है।

संबंधित पोस्ट

भिवंडी इमारत हादसे में मृतक संख्या 41 हुई, बॉम्बे हाईकोर्ट ने घटना को बेहद गंभीर बताया

Khabar 30 din

छत्तीसगढ़ में कोरोना से बेसहारा बच्चों को स्कूली शिक्षा नि:शुल्क, हर महीने छात्रवृत्ति भी देगी सरकार

Khabar 30 din

बीजापुर में रेंजर की हत्या में शामिल नक्सली गिरफ्तार, नारायणपुर से भी 3 इनामी समेत 4 नक्सलियों को दबोचा

Khabar 30 din

महाराष्ट्र में बीजेपी का बड़ा विकेट गिरा, दिग्गज नेता एकनाथ खडसे थामेंगे एनसीपी का दामन

Khabar 30 Din

रायपुर:आरंग की शराब दुकान में डकैती करने वाले 3 बदमाश गिरफ्तार, इनका मास्टर माइंड महासमुंद में भी कर चुका है ऐसी ही वारदात

Khabar 30 Din

पहली बार खुलासा:दुनिया का 90% सिंगल यूज प्लास्टिक कचरा 100 कंपनियां पैदा कर रहीं; इनमें अमेरिका की डाउ, चीन की सिनोपेक भी

Khabar 30 din