ब्रेकिंग न्यूज़
_1617094822
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ लोकल ख़बरें स्वास्थ्य

अब 45 साल से ज्यादा के सभी को वैक्सीन:किसी मेडिकल सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं, 1 अप्रैल से शुरू होगा टीकाकरण; छत्तीसगढ़ में ऐसे 58 लाख से अधिक लोग

रायपुर
छत्तीसगढ़ में अभी तक 18 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लग चुके हैं। सरकार अभी तक एक लाख व्यक्ति प्रतिदिन का लक्ष्य लेकर चल रही थी। अब यह लक्ष्य बढ़ाना होगा।
  • केंद्र सरकार के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया आदेश
  • बढ़ानी होगी टीकाकरण केंद्रों की संख्या, स्वास्थ्य विभाग में तैयारी तेज

अगले महीने से कोरोना टीकाकरण का दायरा बढ़ जाएगा। एक अप्रैल से 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को यह टीका लगाया जाना है। केंद्र सरकार के निर्देश के बाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने इसके आदेश जारी कर दिये। इस दायरे में छत्तीसगढ़ के करीब 58 लाख 66 हजार 600 लोग आ रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय मंत्रिपरिषद ने 23 मार्च की बैठक में 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाये जाने का फैसला किया था। उसके बाद से ही प्रदेश में इसकी विस्तृत गाइडलाइन का इंतजार था। पिछले दिनों केंद्र सरकार ने टीकाकरण की गाइडलाइन के साथ जिलों का अनुमानित लक्ष्य भी स्वास्थ्य विभाग को भेज दिया। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्लै ने सभी कलेक्टरों के नाम टीकाकरण का आदेश जारी किया है। इसके मुताबिक एक अप्रैल से 45 वर्ष या उससे अधिक के सभी व्यक्तियों को टीका लगाया जाना है। इसके लिये उनको किसी तरह का मेडिकल प्रमाणपत्र दिखाने की जरूरत नहीं है।

बताया गया है कि जिलों में जनसंख्या का 20 प्रतिशत हिस्सा 45 साल या उससे अधिक का माना जा रहा है। ऐसे में छत्तीसगढ़ में इस श्रेणी में आने वालों की संख्या 58.66 लाख होगी। अकेले रायपुर में यह संख्या 5 लाख 51 हजार 364 है। इस आदेश के साथ ही स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन टीकाकरण की तैयारियों में लग गया है। प्रदेश स्तरीय बैठक में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने पर चर्चा जारी है। जिलों से समन्वय कर आज शाम तक टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने का आदेश जारी हो सकता है। अभी तक 1900 से 2000 केंद्रों पर टीकाकरण हो रहा था।

अभी तक 18 लाख वैक्सीन डोज का इस्तेमाल

छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों के वैक्सीनेशन से हुई थी। अगले महीने इसमें फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी शामिल कर लिया गया। इस श्रेणी में पुलिस, राजस्व कर्मी और नगरीय निकायों के कर्मचारी शामिल हैं। एक मार्च से 60 वर्ष और उससे अधिक के बुजुर्गों और 45 वर्ष से अधिक के बीमार व्यक्तियों को टीका लगना शुरू हुआ था।

अभी तक 45 वर्ष वालों को मेडिकल सर्टिफिकेट देना पड़ रहा था

एक मार्च से शुरू हुये टीकाकरण के लिये केंद्र सरकार ने 20 बीमारियों की एक सूची जारी की थी। इन बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को कोरोना का टीका लग रहा था। इसके लिये संबंधित व्यक्ति को किसी डॉक्टर से जारी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होता था कि वह सूची में दी गई किसी बीमारी से पीड़ित है।

संबंधित पोस्ट

कांग्रेस को लेकर माकपा ने साफ़ की स्थिति, पश्चिम बंगाल में साथ तो केरल में ख़िलाफ़ लड़ेगी चुनाव

Khabar 30 Din

कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता अजय सोनी (मोटू) को मातृ शोक, कल होगा अंतिम संस्कार

Khabar 30 Din

गरियाबंन्द सड़क घोटाला, गुणवत्ता विहिन सड़क छत्तीसगढ़ की पहचान बन चूकी है

Khabar 30 din

अब किसी भी स्टेशन से ट्रेन पकड़ने पर नहीं देना होगा जुर्माना! ये है IRCTC का नया नियम

Khabar 30 din

योगगुरु के खिलाफ थाने में शिकायत:रायपुर IMA और हॉस्पिटल बोर्ड ने कहा- दर्ज करो महामारी एक्ट और राजद्रोह का मामला

Khabar 30 din

रायपुर : स्वामी आत्मानंद स्कूलों में प्रवेश हेतु भारी मांग को देखते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का बड़ा निर्णय

Khabar 30 din
error: Content is protected !!