ब्रेकिंग न्यूज़
download (1)
देश विदेश ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति

दबाव बढ़ा तो झुका अमेरिका, टीका निर्माण के लिए अब भारत को देगा कच्चा माल

नई दिल्ली: भारत में कोरोना के जानलेवा वायरस से हालत जानलेवा है। यहां हर दिन रिकॉर्ड तोड़ कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं। इस बीच अमेरिका से भारत के लिए अच्छी खबर आई है। दबाव बढ़ने के बाद अमेरिका भारत को टीका निर्माण के लिए कच्चा माल देने के लिए राजी हो गया है। अमेरिका ने कोविशील्ड वैक्सीन के उत्पादन के लिए आवश्यक कच्चे माल की आपूर्ति करने के लिए सहमति जताई है। बाइडन प्रशासन की ओर से यह भरोसा दिलाया गया है कि अमेरिका, भारत को हरसंभव मदद करेगा।

इस संबध में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ट्वीट भी किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘जिस तरह महामारी की शुरुआत में भारत ने अमेरिका की मदद की थी, उसी तरह ज़रूरत के इस वक्त में हम भारत की मदद करने को लेकर दृढ़-संकल्प हैं।’

इसके साथ कोविड महामारी के इस संकट काल में अमेरिका की उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस ने भी भारत के साथ सहयोग की बात कही है। कमला हैरिस ने कर कहा है कि ‘कोरोना महामारी के इस विस्फोटक दौर में अमेरिका भारत सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है। हम सहायता कर रहे हैं। हम भारत के लोगों के लिए प्रार्थना करते हैं, जिसमें साहसी स्वास्थकर्मी भी शामिल हैं।’

आपको बता दें कि अमेरिका ने भारत में बन रही वैक्‍सीन के कच्‍चे माल की आपूर्ति रोक लगा दी है। अमेरिका के इस कदम से वैक्‍सीन बनाने वाली भारतीय कपंनियों और भारत सरकार की चिंता बढ़ गई है। अमेरिका के इस निर्णय के बाद अमेरिका में भारतीय समर्थकों ने बाइडन प्रशासन पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था। इसके बाद अमेरिका के रूख में ये बदलाव आया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति से मिले इस समर्थन के बाद देश में वैक्सीन बनाए जाने के काम में काफी तेजी आएगी और राष्ट्रव्यापी वैक्सीन प्रोग्राम को और अधिक बल मिलेगा, वर्तमान में कई राज्यों से वैक्सीन की कमी बताई जा रही है, इसके अलावा देश में कोविड के मामले भी अत्यधिक बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में वैक्सीन ही एक बड़ा विकल्प है और अमेरिका के इस रुख से भारत में वैक्सीन निर्माण को गति मिलेगी।

गौरतलब है कि अमेरिका से पहले चीन, पाक‍िस्‍तान, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी ने भारत को कोरोना संकट की इस घड़ी में हर संभव मदद की  बात कह चुका है। शुक्रवार को चीन ने कोरोना से जूझ रहे भारत के लिए हर संभव मदद की बात कही थी। चीनी मदद के ऐलान के बाद अमेरिका ने तुरंत कहा है कि वह अपने दोस्‍त भारत को हर संभव मदद करेगा। चीन के इस बयान के बाद बाइडन प्रशासन पर यह लगातार दबाव बन रहा था कि अमेरिका को भारत की मदद करना चाहिए।

संबंधित पोस्ट

त्योहारी सीजन में बढ़ा कोरोना:अगस्त के मुकाबले आधी रह गई जांच, फिर भी मरीजों का आंकड़ा बढ़ा; रायपुर, दुर्ग में ज्यादा केस

Khabar 30 din

छत्तीसगढ़ में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन:बाजारों में ऑड-ईवन फार्मूले पर खुल सकती हैं दुकानें, अनाज मंडी और ई-कॉमर्स सेवा को भी कारोबार की छूट होगी

Khabar 30 din

कोरोना की दूसरी लहर के लिए चुनाव आयोग ज़िम्मेदार, अफसरों पर हत्या का मुक़दमा होना चाहिए: कोर्ट

Khabar 30 Din

आगराः ताजमहल के 22 कमरों में नहीं है कोई रहस्य, जानें विवाद के बीच ASI ने अपनी वेबसाइट पर क्या कहा

Khabar 30 din

रायपुर में सड़क हादसा:ट्रक की टक्कर से बस सवार 8 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल; ओडिशा से गुजरात जा रहे थे मजदूर, परिजन को 2-2 लाख की आर्थिक सहायता का ऐलान

Khabar 30 din

श्रीलंका: आर्थिक संकट के बीच राष्ट्रपति ने एक महीने में दूसरी बार देश में आपातकाल की घोषणा की

Khabar 30 din
error: Content is protected !!