ब्रेकिंग न्यूज़
191619503729_1619581120
ब्रेकिंग न्यूज़ स्वास्थ्य

18+ उम्र के लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होते ही पोर्टल क्रैश; बिना अपॉइंटमेंट इस एज ग्रुप के लोग टीका नहीं लगवा सकेंगे

देश में 18 और इससे ज्यादा उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन एक मई से शुरू होगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन आज से यानी 28 अप्रैल शाम 4 बजे से शुरू होना था। लेकिन 4 बजते ही कोविन पोर्टल क्रैश हो गया। लोगों को आरोग्य सेतु और उमंग ऐप पर भी ऐसी ही समस्या का सामना करना पड़ा। इससे पहले सरकार ने रजिस्ट्रेशन के लिए तारीख का ऐलान तो किया, लेकिन किस समय रजिस्ट्रेशन शुरू होगा? इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

ऐसे में लोगों ने 27 अप्रैल की रात 12 बजे के बाद से ही कोविन पोर्टल, आरोग्य सेतु या उमंग ऐप पर रजिस्ट्रेशन की कोशिशें शुरू कर दीं। प्रॉसेस शुरू न होने की स्थिति में लोग सोशल मीडिया पर शिकायत करते भी नजर आए। इसके बाद आरोग्य सेतु ऐप के जरिए सरकार ने स्थिति स्पष्ट की।

इसके मुताबिक, 18+ उम्र के वे लोग जो वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, उनके लिए बुधवार को शाम 4 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। ऐसे लोगों को अपॉइंटमेंट भी प्राइवेट और राज्य सरकार के सेंटर्स की उपलब्धता के आधार पर ही मिलेगा। यानी राज्यों में एक मई को वैक्सीनेशन के लिए तैयार सेंटर्स के आधार पर ही लोगों को अपॉइंटमेंट दिया जाएगा।

समय का देरी से ऐलान करने से लोग नाराज
आरोग्य सेतु के ट्विटर हैंडल के जरिए सुबह 7.50 बजे शाम 4 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू होने का ऐलान किया गया। इसलिए काफी पहले से ही रजिस्ट्रेशन करने की कोशिश कर रहे लोगों ने सोशल मीडिया पर काफी नाराजगी जताई। उनका कहना था कि सरकार को समय का ऐलान पहले ही करना चाहिए था। लोग 27 अप्रैल रात 12 बजे ही से रजिस्ट्रेशन ट्राई कर रहे थे।

18+ को वैक्सीनेट करने पर सियासत क्यों हो रही है?

  • हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हाईलेवल की बैठक में देश की 18+ आबादी को वैक्सीनेट करने का फैसला लिया गया। पर यह बहुत पेचीदा है। पॉलिसी के तहत कसौली की सेंट्रल ड्रग लैबोरेटरी से मंजूरी मिलने के बाद 50% डोज केंद्र के पास जाएंगे और बचे हुए डोज राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों में बंट जाएंगे।
  • केंद्र सरकार ने कोवीशील्ड के लिए सीरम इंस्टीट्यूट और कोवैक्सिन के लिए भारत बायोटेक से 150 रुपए प्रति डोज की कीमत चुकाने की डील की है। वहीं राज्यों के लिए कोवीशील्ड का एक डोज 400 रुपए का और कोवैक्सिन का एक डोज 600 रुपए का पड़ेगा। कंपनियों ने यह कीमत तय की है।
  • अब इसे लेकर कई सवाल है, जिनके जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है। मसलन… केंद्र और राज्यों की सरकारों के लिए अलग-अलग कीमत क्यों? केंद्र खुद खरीदकर राज्यों को वैक्सीन डोज उपलब्ध क्यों नहीं करा रहा? राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को मिलने वाले वैक्सीन डोज का बंटवारा कैसे होगा?
  • इस पर सियासत भी गरमा गई है। राजस्थान, झारखंड, पंजाब और छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्रियों ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि केंद्र उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। सीरम इंस्टीट्यूट से जब उन्होंने डोज मांगे तो जवाब मिला कि 15 मई से पहले यह संभव नहीं होगा। अब यह राज्य कह रहे हैं कि बजट में था नहीं फिर भी पैसे तो जैसे-तैसे जुटा लेंगे पर वैक्सीन डोज मिले ही नहीं तो 18+ को वैक्सीनेट करेंगे कैसे?

संबंधित पोस्ट

अमेरिका में बच्चों को लग रही कोरोना वैक्सीन को लेकर माता-पिता उठाने लगे सवाल, भारत में भी वही टीका लाने की तैयारी; जानिए क्या हैं उनकी चिंताएं..

Khabar 30 din

ट्विटर ने 3 महीने की मोहलत मांगी:सोशल मीडिया सुपरपावर का डर- IT नियमों से अभिव्यक्ति की आजादी खत्म होगी, हमारे कर्मचारियों की सुरक्षा खतरे में

Khabar 30 din

फेक न्यूज़ एक्सपोज़:कोविड-19 से बचने के लिए कारगर बताई जा रही वायरल लिस्ट की दवाएं, एक्सपर्ट ने बताया – इस लिस्ट को सच मानकर दवाएं लेना जानलेवा हो सकता है

Khabar 30 din

Political Third Front News: शरद पवार के थर्ड फ्रंट को लेकर MVA में मतभेद, BJP ने कहा-‘नहीं टिकेगा अपवित्र गठबंधन’

Khabar 30 din

आईआईएम के छात्रों-शिक्षकों ने प्रधानमंत्री को लिखा- आपके मौन ने नफ़रती आवाज़ों को साहस दिया

Khabar 30 din

29 मैचों के बाद IPL आखिरकार रोका गया:कई खिलाड़ियों को कोरोना होने के बाद टूर्नामेंट सस्पेंड, बचे हुए मैच री-शेड्यूल किए जा सकते हैं

Khabar 30 din
error: Content is protected !!