ब्रेकिंग न्यूज़
प्रदेश बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति

चुनाव परिणाम लाइव: पश्चिम बंगाल में टीएमसी 200 सीटों के करीब, 100 के नीचे सिमटती दिख रही भाजपा

पश्चिम बंगाल की 294, असम की 126, तमिलनाडु की 234, केरल की 140 और पुदुचेरी की 30 सीटों के लिए मतगणना जारी है. असम में भाजपा नीत एनडीए गठबंधन को बढ़त हासिल है और केरल में वाम दलों के नेतृत्व वाले एलडीएफ ने बढ़त हासिल की है. वहीं, तमिलनाडु में विपक्षी डीएमके ने भारी बढ़त बना ली है.

पश्चिम बंगाल:

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के खिलाफ निर्णायक बढ़त बना ली है जबकि भाजपा 100 से कम सीटों पर सिमटती हुई नजर आ रही है.

विधानसभा चुनाव के लिए उपलब्ध ताजा आंकड़ों के अनुसार, पश्चिम बंगाल में 292 विधानसभा सीटों में 284 सीटों के लिए उपलब्ध रुझानों में टीएमसी 202 जबकि भाजपा 77 सीटों पर आगे चल रही है।

टीएमसी भारी जीत की ओर बढ़ती नजर आ रही है और अगर मौजूदा रुझान बरकरार रहते हैं तो पार्टी राज्य में लगातार तीसरी बार आसानी से सरकार बना लेगी।

पश्चिम बंगाल में मत प्रतिशत की बात करें तो तृणमूल कांग्रेस 48.5 प्रतिशत वोट हासिल करती दिख रही है. भाजपा को 37.4 प्रतिशत वोट मिलता नजर आ रहा है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बहुचर्चित नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में दो चरणों की मतगणना के बाद अपने मुख्य प्रतिद्वंद्वी और भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से 3460 वोटों से पीछे चल रही हैं.

कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद को धता बताते हुए, तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी तेजी से जीत की ओर बढ़ते दिख रहे हैं और अगर मौजूदा रुझान परिणामों में तब्दील होते हैं तो पार्टी बेहद आसानी से लगातार तीसरी बार राज्य में सरकार बनाएगी.

भाजपा से लोकसभा के दो सदस्य बाबुल सुप्रियो और लॉकेट चटर्जी, टॉलीगंज और चुचुरा सीट से पीछे चल रहे हैं. सुप्रियो लोकसभा में आसनसोल और चटर्जी हुगली सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं.

हालांकि, कूचबिहार से भाजपा सांसद निशिथ प्रमाणिक दिनाहाटा में आगे चल रहे हैं.

भवानीपुर से टीएमसी प्रत्याशी सोहनदेब अपने भाजपा प्रतिद्वंद्वी रुद्रनील घोष से 3,000 से अधिक मतों से आगे चल रहे हैं. यह सीट ममता बनर्जी ने नंदीग्राम से चुनाव लड़ने के लिए छोड़ दी थी.

राज्य के मंत्री और बनर्जी के विश्वासपात्र फरहाद हाकिम भी अपनी सीट से आगे चल रहे हैं.

मालदा और मुर्शिदाबाद, मुस्लिम बहुल जिलों में, टीएमसी ने शुरुआती रुझानों में बड़ी बढ़त हासिल की है. ये पारंपरिक तौर पर कांग्रेस के गढ़ थे, लेकिन ऐसा लगता है कि इस द्वि-ध्रुवीय चुनाव में मुसलमानों ने भाजपा के कारण अपनी निष्ठा को बदल दी है.

बता दें कि 2019 के लोकसभा वोटों में मुस्लिम वोटों में विभाजन के कारण भाजपा मालदा में कुछ सीटें जीतने में कामयाब रही थी.

असम:

असम में विधानसभा चुनाव के लिए रविवार को जारी मतगणना में निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर 110 सीटों के उपलब्ध रुझानों के मुताबिक सत्तारूढ़ भाजपा नीत राजग को 71 सीटों पर बढ़त मिली है जबकि कांग्रेस के नेतृत्व में बने महागठबंधन को 38 सीटों पर बढ़त हासिल है.

भाजपा प्रत्याशी 54 सीटों पर आगे चल रहे हैं जबकि उसकी सहयोगी पार्टी एजीपी के प्रत्याशी 10 और यूपीपीएल के प्रत्याशी सात सीटों पर आगे चल रहे हैं.

कांग्रेस ने शुरुआती चरणों में 28 सीटों पर बढ़त हासिल की है और एआईयूडीएफ ने 10 सीटों पर.

स्थानीय समाचार रिपोर्ट के अनुसार, रायजोर दल के नेता अखिल गोगोई शिवसागर सीट से 1333 वोटों से आगे चल रहे हैं.

असम में विधानसभा की 126 सीटें हैं और बहुमत के लिए 64 सीटों की जरूरत है.

तमिलनाडु:

तमिलनाडु में छह अप्रैल को हुए विधानसभा चुनाव के लिये रविवार को हो रही मतगणना के शुरुआती रुझानों में द्रमुक नीत गठबंधन सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक के नेतृत्व वाले गठबंधन से आगे चल रहा है.

निर्वाचन आयोग द्वारा सुबह 11 बजे तक 206 सीटों के उपलब्ध कराए रुझानों के मुताबिक, द्रमुक गठबंधन 111 सीटों पर आगे चल रहा है जबकि अन्नाद्रुमक के मोर्चे को 94 सीटों पर बढ़त मिली हुई है.

तमिलनाडु में विधानसभा की 234 सीटें हैं और बहुमत के लिए 118 सीटों की जरूरत होती है.

अबतक के रुझानों से संकेत मिलता है कि द्रमुक के पक्ष में कोई विशिष्ट लहर नहीं थी और अन्नाद्रमुक ने 10 साल की सत्ताविरोधी लहर के बावजूद अपनी अहमियत नहीं खोई है. एक्जिट पोल में द्रमुक गठबंधन को 160-190 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया था.

अन्नाद्रमुक के शीर्ष नेता के पलानीस्वामी सलेम जिले की इडापड्डी विधानसभा सीट से आगे चल रहे हैं जबकि उपमुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम द्रमुक के टी तमिलसेल्वम से मामूली अंतर से पीछे चल रहे हैं.

विपक्ष के नेता और द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन यहां कोलाथुर सीट से आगे चल रहे हैं जबकि उनके बेटे और पार्टी की युवा इकाई के सचिव उदयनिधि स्टालिन ने चेपक-ट्रिपलिकेन सीट से बढ़त बनाए हुए हैं.

कोयंबटूर दक्षिण सीट से मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) के प्रमुख कमल हासन और कांग्रेस उम्मीदवार मयूर जयकुमार के बीच कांटे की टक्कर चल रही है जबकि भाजपा के वी श्रीनिवासन तीसरे स्थान पर हैं.

द्रमुक के प्रमुख नेता एमआरके पन्नीरसेल्वम (कुरिन्जीपाडी) और दुरईमुरूगन (कटपाडी) से पीछे चल रहे हैं जबकि अन्नाद्रमक से निष्कासित और अम्मा मक्कल मुन्नेत्र कषगम के प्रमुख टीटीवी दिनाकरण कोविलपट्टी सीट से अन्नाद्रमुक के नेता और मंत्री के सी राजू से पीछे चल रहे हैं.

अबतक आगे चल रहे मंत्रियों में एसपी वेलुमणि, एस. राजू, एमसी संपथ, एमआर विजयभास्कर, सी. विजयभास्कर और यूके राधाकृष्ण शामिल हैं.

पुदुचेरी:

पुडुचेरी में छह अप्रैल को हुए चुनाव के लिए रविवार को जारी मतगणना के पहले दौर में एआईएनआरसी नीत एनडीए नौ सीटों पर आगे चल रही है जबकि कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन को तीन सीटों पर बढ़त मिली हुई है.

सुबह साढ़े 10 बजे तक उपलब्ध रुझानों के मुताबिक, एआईएनआरसी के प्रमुख एन. रंगासामी अपनी सीट पर आगे चल रहे हैं.

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) नीत मोर्चे में एआईएनआरसी, अन्नाडीएमके और भाजपा शामिल है.

पुडुचेरी, कराइकल, माहे और यनम क्षेत्र तक फैली विधानसभा के अंतर्गत 30 क्षेत्र हैं.

चुनाव में मुख्य प्रत्याशी एनडीए का नेतृत्व कर रहे एआईएनआरसी नेता एन रंगासामी हैं.

दूसरी तरफ, कांग्रेस नीत सेक्युलर डेमोक्रेटिक अलायंस (एसडीए) में कांग्रेस, डीएमके, वीसीके और भाकपा शामिल हैं.

केरल:

केरल में माकपा की अगुवाई वाला वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) कुल 140 विधानसभा सीटों में से 88 पर आगे है तो कांग्रेस के नेतृत्व वाला संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) की बढ़त 50 सीटों पर है.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन धर्मादम सीट पर कांग्रेस के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सी रघुनाथन से 3351 मतों से आगे चल रहे थे.शुरुआती रूझानों से संकेत मिल रहे हैं कि भाजपा के नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) पलक्कड़ की दो सीटों पर आगे है. इनमें एक सीट नेमोन है जहां से मेट्रो मैन ई श्रीधरण चुनावी मैदान में हैं. पिछले विधानसभा चुनाव में पूरे केरल में भाजपा को सिर्फ नेमोन में ही जीत मिली थी.

मुख्यमंत्री पिनरई विजयन, स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा, पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी, विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला अपनी-अपनी सीटों पर आगे चल रहे हैं.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के सुरेंद्रन कोन्नी और मंजेश्वरम से पीछे चल रहे हैं. उन्होंने दोनों ही सीटों से चुनाव लड़ा था.

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट के मुताबिक माकपा पांच सीटों पर, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) दो सीटों पर और कांग्रेस पांच सीटों पर आगे चल रही है.

बता दें कि मतदान के बाद आए ज्यादातर एग्जिट पोल में पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर का अनुमान जताया गया था. दूसरी तरफ, असम में राजग की जीत तथा केरल में वाम मोर्चे के सत्ता में बने रहने का अनुमान व्यक्त किया गया था.

एग्जिट पोल में असम और केरल में कांग्रेस की हार की संभावना जताई गई थी और अब तक रुझानों में यही स्थिति बनती दिख रही है. तमिलनाडु में डीेएमके की अगुवाई और कांग्रेस की मौजूदगी वाले गठबंधन की जीत की संभावना जताई गई थी. पुडुचेरी में राजग के जीतने की संभावना ज्यादातर एग्जिट पोल में जताई गई थी.

संबंधित पोस्ट

स्टर्लिंग बायोटेक मालिकों के ख़िलाफ़ बैंक धोखाधड़ी मामले की सुनवाई से अलग हुए जज

Khabar 30 din

दुर्ग में ब्लैक फंगस के सबसे ज्यादा 28 केस:यहां अब तक 5 मरीजों की मौत

Khabar 30 din

भोपाल में कर्फ्यू की हकीकत:करीब 8% लोगों ने नहीं माने कानून; बिना कारण करीब 18 हजार से ज्यादा बाहर भी निकले, मास्क नहीं पहनने के लिए कई बहाने बनाए

Khabar 30 din

स्टार प्रचारक का दर्जा छीनने का मामला:कमलनाथ पर चुनाव आयोग की कार्रवाई से नाराज कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाएगी, कहा- बिना नोटिस दिए ही स्टार प्रचारक का दर्जा छीनना अलोकतांत्रिक

Khabar 30 Din

बाबरी विध्वंस की साज़िश को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आईबी रिपोर्ट पेश की गई थी: पूर्व गृह सचिव

Khabar 30 din

उपलब्धि:रायपुर में हॉकी एकेडमी और बिलासपुर में एक्सीलेंस सेंटर को मिली मान्यता; भारतीय खेल प्राधिकरण ने दी स्वीकृति

Khabar 30 Din