ब्रेकिंग न्यूज़
COVID 19 प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़ स्वास्थ्य

राजस्थान में कोरोना से हालात बेकाबू:पिछले 7 दिनों में 1107 लोगों की जान गई, यह अप्रैल में हुई कुल मौतों का 78%; छोटे जिलों में सुधार के संकेत

जयपुर

राजस्थान में बढ़ते कोरोना के मामलों ने हालात बिगाड़ कर रख दिए हैं। नए केस के साथ ही अब मौत के आंकड़ों ने भी सरकार और लोगों की चिंता बढ़ा दी है। मई के पहले सप्ताह में राज्य में 1107 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई। अप्रैल में यह आंकड़ा 1421 था। यानी पिछले महीने मुकाबले 78% मौतें पिछले 7 दिनों में ही रिकॉर्ड की गई हैं।

हालांकि, राहत की बात यह है कि रिकवर मरीजों की संख्या में भी धीरे-धीरे इजाफा हो रहा है। राज्य में जिलेवार रिकवरी की स्थिति देखें, तो छोटे जिले डूंगरपुर, बांसवाड़ा, भरतपुर, नागौर में स्थिति बेहतर होने लगी है। उधर, बाड़मेर, जैसलमेर, चूरू, हनुमानगढ़ में हालात बिगड़ रहे हैं।

बीते दिन फिर से बढ़े मामले
पिछले 24 घंटे में 18,231 नए संक्रमित मिले, जबकि रिकॉर्ड 164 लोगों की जान गई। इससे पहले 2 मई को सबसे अधिक 18,298 मरीज आए थे। उसके बाद तीन दिन तक लगातार नए मरीजों के आंकड़े में गिरावट आई थी। मगर पिछले दो दिनों से फिर संक्रमित बढ़ने लगे हैं।

विशेषज्ञों की मानें, तो मई का ये महीना मौत के मामले में डरावना रहने वाला है। पहली लहर जब सितंबर, अक्टूबर और नवंबर में थी, इस दौरान कुल 1,264 लोगों की कोरोना से जान गई थी। ऐसे में मई के पहले सप्ताह के आंकड़ों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि दूसरी लहर कितनी घातक है।

डूंगरपुर में 90% रिकवरी
राजस्थान में पॉजिटिव केसों की संख्या में बढ़ोतरी के बीच राहत की खबर यह है कि अलग-अलग जिलों में रिकवरी रेट अब तेजी से बढ़ने लगा है। डूंगरपुर 90% रिकवरी रेट के साथ टॉप पर है। डूंगरपुर में अब तक 14,153 लोग पॉजिटिव हो चुके हैं। इनमें 12,709 लोगों ने कोरोना को मात दी है। इसी तरह, नागौर, भरतपुर में भी स्थिति काफी बेहतर है। सबसे बड़ी राहत की बात प्रमुख हॉटस्पॉट जिलों में शामिल कोटा से है, यहां रिकवरी रेट 85% तक पहुंच गया है।

सवाई माधोपुर में हालत चिंताजनक
रिकवरी के मामले में सवाई माधोपुर की स्थिति चिंताजनक है। राज्य में सबसे कम 40% रिकवरी सवाई माधोपुर जिले में है। यहां अब तक 8]381 मरीज मिले हैं, जिसमें 3,362 मरीज ही ठीक हुए हैं। इसके अलावा जैसलमेर, हनुमानगढ़ और चूरू में भी स्थिति खराब है, जहां रिकवरी रेट 50% से भी कम है।

उदयपुर में वैक्सीन की किल्लत
उदयपुर में वैक्सीन की डोज खत्म होने के कगार पर है। यहां शनिवार को सिर्फ 18 से 44 साल की उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन हो रहा है। आरसीएचओ डॉ. अशोक आदित्य की मानें, तो जिले में केवल इतनी ही डोज बची है कि शनिवार को ही इस उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन हो सकता है। अगर डोज नहीं आई तो रविवार को मजबूरन इस उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन भी बंद करना पड़ेगा।

संबंधित पोस्ट

एमपी में भी वोट के बदले वैक्सीन:शिवराज बोले- मध्य प्रदेश के गरीबों को मुफ्त में कोरोना वैक्सीन लगेगी, फिर कहा- सभी के लिए फ्री होगी

Khabar 30 Din

डबल मर्डर का आरोपी 10 दिन बाद गिरफ्तार

Khabar 30 din

मेघालय के गवर्नर का बड़ा दावा:सत्यपाल मलिक बोले- अंबानी और RSS से जुड़ी डील में घपला था, मुझे 300 करोड़ घूस ऑफर हुई थी

Khabar 30 din

धोखेबाज चीन जासूसी भी कर रहा:मोदी, कोविंद और सोनिया समेत भारत के 10 हजार बड़े लोगों और संस्थाओं पर चीन की नजर, वहां की सरकार से जुड़ी डेटा कंपनी हर छोटी-बड़ी सूचना जुटा रही

Khabar 30 din

श्रीमती भारती प्रधान बस्तर, जगदलपुर की जिला शिक्षा अधिकारी है ? या किसी गाँव की अनपढ़ पंच समझ से परे?

Khabar 30 din

महासमुंद की जिला जेल से दोपहर 3:30 बजे 5 कैदी फरार; कंबल जोड़कर 21 फीट ऊंची दीवार पर चढ़कर दूसरी ओर उतरे, जेलर स्कूटी से करते रहे पीछा

Khabar 30 din