ब्रेकिंग न्यूज़
COVID 19 उत्तरप्रदेश छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ स्वास्थ्य

5जी नेटवर्क परीक्षण को लेकर अफ़वाह फैला रहे लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई के आदेश

पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया के ज़रिये यह अफ़वाह फ़ैलाई जा रही है कि उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में 5जी सेवा के परीक्षण से रेडिएशन हो रहा है, जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं और लोगों की मौत हो रही है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने ऐसी अफ़वाहों पर लगाम लगाने के लिए छोटी से छोटी सूचना पर तत्काल प्रभावी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस ने मोबाइल की 5जी सेवा के परीक्षण को कोविड-19 के मौजूदा प्रसार से जोड़कर ‘अफवाह’ फैला रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं.

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने शनिवार को राज्य के सभी पुलिस आयुक्तों, पुलिस उपमहानिरीक्षकों तथा जिला पुलिस प्रमुखों को लिखे गए पत्र में कहा है कि पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया के जरिये यह अफवाह फैलाई जा रही है कि राज्य के कुछ हिस्सों में 5जी सेवा के परीक्षण से रेडिएशन हो रहा है, जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और लोगों की मौत हो रही है.

उन्होंने पत्र में कहा कि सोशल मीडिया पर प्रसारित एक पोस्ट में इटली में कोविड-19 से मरे व्यक्तियों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रेडिएशन से मृत्यु होने की बात भी फैलाई जा रही है.

इसके अलावा वाराणसी के एक युवक की बिहार के किसी व्यक्ति से बातचीत का ऑडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें 5जी टावर की टेस्टिंग के कारण कोरोना वायरस संक्रमण बढ़ने से व्यक्तियों के मरने की बात कही जा रही है.

उन्होंने कहा कि फतेहपुर, सिद्धार्थ नगर, गोरखपुर तथा सुल्तानपुर के कुछ गांवों में कथित रूप से ग्रामीणों द्वारा 5जी टावर को बंद कराने और उखाड़ फेंकने की धमकी दिए जाने संबंधी पोस्ट भी प्रसारित हो रही हैं.

अपर पुलिस महानिदेशक ने इन अफवाहों पर लगाम लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि खुफिया तंत्र को सक्रिय रखा जाए और छोटी से छोटी सूचना पर तत्काल प्रभावी कार्रवाई की जाए. साथ ही कहा कि ‘अफवाहों’ का हर स्तर पर तत्काल खंडन किया जाए और महत्वपूर्ण सूचना से सभी संबंधित लोगों को फौरन वाकिफ कराते हुए जरूरी कानूनी कार्रवाई की जाए.

गौरतलब है कि इन दिनों सोशल मीडिया पर कोविड-19 के बढ़ते मामलों को 5जी सेवा की टेस्टिंग से जोड़कर कई जानकारियां साझा की जा रही हैं. इनमें दावा किया जा रहा है कि प्रदेश में कोविड-19 के मामलों में अचानक हुई बेतहाशा वृद्धि के लिए 5जी सेवा का जारी परीक्षण मुख्य रूप से जिम्मेदार है.

इससे पहले कुछ सोशल मीडिया पोस्ट में ये दावा भी किया गया था कि 5जी टावरों से निकलने वाले रेडिएशन से उपयोगकर्ताओं को सांस लेने में तकलीफ हो रही है.

पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने इन अफवाहों पर भरोसा नहीं करने को कहा है. दूरसंचार उद्योग की ओर से भी इन अफवाहों को झूठा और बेबुनियाद बताया गया है.

मिंट से बातचीत में भारतीय दूरसंचार उद्योग की प्रतिनिधि संस्था सीओएआई (सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. एसपी कोचर ने कहा है, ‘हम स्पष्ट करना चाहेंगे कि ये अफवाहें बिल्कुल झूठी हैं. हम लोगों से ऐसी आधारहीन गलत सूचनाओं पर भरोसा नहीं करने का आग्रह करते हैं. दुनिया के कई देशों ने पहले ही 5जी नेटवर्क को शुरू कर दिया है और लोग इन सेवाओं का सुरक्षित रूप से उपयोग कर रहे हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘यहां तक कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी स्पष्ट किया है कि 5जी तकनीक और कोविड-19 के बीच कोई संबंध नहीं है. हमने दूरसंचार विभाग के साथ अपनी चिंताओं को साझा किया है और उन्हें स्थिति से अवगत कराया है. मैं साथी नागरिकों से इन नकली संदेशों से सावधान रहने की अपील करता हूं. हम साथ मिलकर गलत सूचना के इस खतरे से लड़ सकते हैं.’

सीओएआई ने यह भी स्पष्ट किया है कि अब तक भारत में 5जी टावर नहीं लगा है, इसलिए इस तरह के दावे पूरी तरह से गलत हैं.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले डब्ल्यूएचओ ने पुष्टि की थी कि वायरस रेडियो तरंगों/मोबाइल नेटवर्क के जरिये यात्रा नहीं कर सकते हैं. इसलिए कोविड-19 की वजह से होने वाली मौतों या मामलों में उछाल के पीछे 5जी कारण नहीं हो सकता है.

संबंधित पोस्ट

लगातार बढ़ रहे जंगली जानवरों के हमले, बाघ ने किया युवक पर हमला

Khabar 30 Din

कोरोना दुनिया में:अमेरिका में मई के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा 2 हजार 15 मौतें, ट्रम्प का बड़ा बेटा भी संक्रमित

Khabar 30 Din

कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन:1 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित हुए थे, मोदी बोले- अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए याद किए जाएंगे

Khabar 30 din

देश का 42वां वेटलैंड:मीठे-खारे पानी की आपस में जुड़ी दो झीलें वेटलैंड घोषित, लद्दाख की पहली, देश की 42वीं रामसर साइट

Khabar 30 din

1 करोड़ के इनामी नक्सली की आखिरी तस्वीर:माओवादियों ने दी अक्की को अंतिम विदाई, तेलंगाना बॉर्डर पर किया अंतिम संस्कार

Khabar 30 din

आईएमए, एम्स सहित कई संस्थाओं ने एलोपैथी पर रामदेव के बयान के लिए कार्रवाई की मांग की

Khabar 30 din