ब्रेकिंग न्यूज़
क्राईम छत्तीसगढ़ भ्रष्टाचार

ऑपरेशन किया और पेट में छोड़ दी पट्टियां:बिलासपुर के जनस्वास्थ्य केंद्र में बड़ी लापरवाही, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने कराया ऑपरेशन फिर दर्द से कराहती दूसरे अस्पतालों में भटकती रही, पुलिस में शिकायत

बिलासपुर

कीर्ति ने 13 जुलाई 2020 को प्रसव पीड़ा के बाद गनियारी जनस्वास्थ्य केंद्र में ऑपरेशन कराया था। इसके बाद भी महिला के पेट में दर्द हमेशा बने रहता था। अब करीब 10 महीने बाद फिर से ऑपरेशन कराने पर उसके पेट से तीन कॉटन की पटि्टयां निकली हैं।

बिलासपुर जिले के तखतपुर ब्लॉक के गनियारी जनस्वास्थ्य केंद्र की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। यहां 10 महीने पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के प्रसव पीड़ा के बाद ऑपरेशन करने के दौरान पेट में तीन कॉटन की पटि्टयां छोड़ दी गईं। महिला ऑपरेशन के बाद से ही दर्द से कराहती पहले इसी केंद्र में और फिर दूसरे अस्पतालों के चक्कर लगाती रही। इसके बाद जब महिला एक निजी अस्पताल में पहुंची तब पूरे मामले का पता चला और फिर उसका ऑपरेशन कर पटि्टयों को पेट से निकाला गया।

फिलहाल महिला के ससुर ने पूरे मामले को लेकर कोटा थाना में मामला दर्ज कराया है। इधर, ऑपरेशन के बाद भी महिला की हालत ठीक नहीं है। वहीं पूरे मामले को लेकर CMHO डॉ.प्रमोद महाजन ने कहा है कि ये गंभीर लापरवाही है, शिकायत मिलने पर कार्रवाई करेंगे।

दवा ले लो ठीक हो जाओगी

दरअसल, नेवरा पंचायत की रहने वाली कीर्ति गेंदले ने गनियारी जनस्वास्थ्य केंद्र में प्रसव पीड़ा के बाद 13 जुलाई 2020 को ऑपरेशन कराया था। उस दौरन कीर्ति ने एक लड़की को जन्म दिया। कुछ दिन बाद कीर्ति की अस्पताल से छुट्‌टी कर दी गई। वह जब घर गई तब भी उसको ब्लीडिंग की शिकायत बनी रही, पेट में भी दर्द रहता था। इस पर वो फिर जनस्वास्थ्य केंद्र गई। यहां उसके इलाज चालू किया गया और कहा की दवाई लेते रहो ठीक हो जाओगी।

पर हैरान वाली बात ये रही है कि ऑपरेशन के इतने दिन बीत जाने के बाद भी केंद्र के डॉक्टर्स दर्द के असली कारणों का पता नहीं लगा सके और महिला इतने दिनों तक दर्द सहती रही। इस बीच महिला की हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। आखिरकार केंद्र ने अप्रैल में इलाज से हाथ खड़े कर दिए। कीर्ति नेवरा पंचायत में ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के रूप में पदस्थ है।

पूरे मामले को लेकर कोटा थाने में FIR दर्ज करने के लिए शिकायत कराई गई है।
पूरे मामले को लेकर कोटा थाने में FIR दर्ज करने के लिए शिकायत कराई गई है।

सिटी स्कैन और सोनोग्राफी कराने पर पता चला

परिजनों ने और भी अस्पताल में दिखाया पर बात नहीं बनी। इस बीच परिजन महिला को लेकर बिलासपुर के निजी अस्पताल में पहुंचे, जहां महिला का सिटी स्कैन और सोनोग्राफी कराया गया। जिसके बाद यह पता चल सका कि महिला के गर्भाशय के पास कॉटन पट्टी जैसी कोई चीज है जो शरीर का अंग नहीं है। फिर डॉक्टरों ने महिला का ऑपरेशन किया और फिर उसके पेट से तीन कॉटन पट्टी निकाले गए, जो गनियारी जनस्वास्थ्य केंद्र में ऑपरेशन के दौरान छोड़ दिए गए थे। अब पूरे मामले की शिकायत महिला के ससुर चंद्रिका लहरे ने कोटा थाने में दर्ज कराई है ।

कोटा थाने के टीआई सनिप रात्रे ने पूरे मामले में जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है। इसके अलावा CMHO डॉ.प्रमोद महाजन ने कहा है कि ये गंभीर लापरवाही है। अगर महिला की ब्लीडिंग नहीं रुक रही थी तो सोनाग्राफी पहले ही कराना था जनस्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर्स को, ये सामान्य प्रक्रिया है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई करेंगे।

संबंधित पोस्ट

बच्चों के लिए दूसरा टीका:एम्स के डायरेक्टर बोले- देश में बच्चों को फाइजर की वैक्सीन लगाई जा सकेगी, ब्रिटेन में भी इसे मंजूरी मिली

Khabar 30 din

पूर्व महिला सरपंच के नाती की हत्या:आपसी विवाद के बाद युवकों ने पत्थर मारा, जमीन में गिरा तो कुचल दिया सिर; आरोपी फरार, स्थानीय युवक के शामिल होने की आशंका

Khabar 30 din

रायपुर में कोरोना:इनकम टैक्स के प्रिंसिपल डायरेक्टर आलोक जौहरी की मौत; 1005 हेल्थ वर्कर, 700 से ज्यादा फ्रंटलाइन वॉरियर संक्रमित हो चुके

Khabar 30 din

रायपुर:-ग्रीष्मकाल मे बच्चों को सक्रिय रखने के लिये शिक्षा अधिकारी ने किया आदेश जारी आमाराईट प्रायोजना,मुल्यांकन श्रेणी अगले सत्र के प्रगति पत्रक में लिखे जायेंगे

Khabar 30 din

बंगाल में फिर CBI vs दीदी:ममता का सवाल- भाजपा में शामिल मुकुल रॉय और शुभेंदु पर ढिलाई; TMC नेताओं पर कड़ाई क्यों?

Khabar 30 din

तो क्या शर्मा जी की अवैध खदानों पर शर्मा जी कर पाएंगे कार्यवाही….

Khabar 30 Din