ब्रेकिंग न्यूज़
क्राईम बड़ी खबर मध्यप्रदेश

शहडोल पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 03 वर्ष पुराने दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

प्रतीक मिश्रा

शहडोल। शहडोल जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जी जनार्दन व पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी के मार्गदर्शन में थाना खैरहा के अपराध क्रमांक 131/2018 धारा 302, 460 भादवि के अज्ञात आरोपीगणों का सघन अनुसंधान कर खैरहा पुलिस व्दारा अंधी हत्या का खुलासा किया गया है। आरोपी कान्हा कचेर पिता रामकरण कचेर उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम करकटी थाना खैरहा जिला शहडोल, लल्ला उर्फ दयाराम बैगा पिता स्व.बननू बैगा उम्र 27 साल निवासी ग्राम करकटी, थाना खैरहा जिला शहडोल, नसीम खान पिता रहमान खान उम्र 21 वर्ष निवासी ग्राम ग्राम करकटी थाना खैरहा जिला शहडोल,पिन्टू उर्फ मिथलेश कुशवाहा पिता बाबूलाल कुशवाहा उम्र 26 वर्ष निवासी करकटी थाना खैरहा जिला शहडोल को 15 अगस्त 2018 की रात्रि में ग्राम करकटी के गणेश बैगा व झुरू बैगा की धारदार हथियार से नृशंस हत्या करने के आरोप में चारों आरोपियों को आज गिरफ्तार किया गया है।

क्या है मामला

16 अगस्त 2018 को थाना खैरहा में सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम करकटी में गणेश बैगा के घर में गणेश बैगा और झूरू बैगा की धारदार हथियार से अज्ञात व्यक्तियों के व्दारा नृशंस हत्या कर घर से सोने चांदी के जेवरात व नगदी 15 हजार रूपये चोरी कर ले गये है। सूचना प्राप्त होने पर थाना खैरहा में अपराध क्रमांक 131/2018 धारा 302,460 ताहि कायम कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान तीन वर्षों तक अज्ञात आरोपियों के संबंध में पुलिस को कोई भी साक्ष्य प्राप्त नहीं हुए जिस पर पुलिस अधीक्षक व्दारा एसडीओपी धनपुरी के निर्देशन में टीम गठित कर थाना प्रभारी खैरहा को पुनः सघन अनुसंधान कर विवेचना करने हेतु आदेशित किया गया। विवेचना के दौरान संदेहियों से मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ किये जाने पर संदेही कान्हा कचेर ने घटना दिनांक को उक्त समय घटना पर अपने तीन साथी लल्ला उर्फ दयाराम बैगा, पिन्टू उर्फ मिथलेश कुशवाहा, नसीम खान के साथ मिलकर गणेश बैगा और झुरू बैगा की चापर (गड़ासा) से हत्या कर देना व पेटी का ताला तोड़कर पेटी के अंदर रखे नगदी 15 हजार रूपये तथा सोने चांदी के जेवरात चोरी करना व बुढार निवासी सचिन सोनी पिता आजाद सोनी को बिक्री करना बताये। घटना में प्रयुक्त आलाजरब को आरोपियों के निशादेही पर उनके कब्जे से बरामद किया गया है।

तरीका वारदात

गिरफ्तार आरोपी कान्हा कचेर ने बताया कि 15 अगस्त 2018 को रात करीब नौ, साडे नौ बजे में अपने पोल्टी फार्म में घर से खाना पीना खाकर आकर बैठा था तभी लल्ला उर्फ दयाराम बैगा,मिथलेश उर्फ पिन्टु कुशवाहा भी आये तो हम लोग बैठ कर बात कर रहे थे कुछ देर बाद नसीम मुसलमान भी मेरे पोल्ट्री फार्म में आ गया और बताया कि गणेश दादा अपने घर मैं 15 20 लाख रुपए अपनी पेटी में रखा है, जिसे मैंने देखा है, उसके घर में कोई नहीं रहता है उसके माता पिता और भाई राजकुमार बैगा उमरिया जिला में रहते है, चलो सभी मिलकर उसके घर चलकर गणेश को मारकर सोना चांदी और पेसे ले लेते है जिसे सभी लोग आपस मे बांट लेंगे, तब हम सभी ने मिलकर चर्चा किए ओर तैयारी करके लल्ला उर्फ दयाराम लेगा, मिथलेश उर्फ पिन्टु कुशवाहा एवं नसीम गुसलमान सभी मेरे पोल्ट्री फार्म से रात करीब साढे दस ग्यारह बजे गणेश बैगा के घर तरफ पोल्ट्री फार्म में रखा मुर्गी काटने वाला चापर, एक हथौड़ी, व एक राड लेकर गणेश बैगा के घर तरफ चले चापर नसीम अपने हाथ में लेकर चल रहा था, लल्ला बेगा हथोड़ा रखा था, और पिन्टु कुशवाहा रास्ते में नसीम से मैं चापर को लेकर अपने पास रख लिया था। हम सभी लोग गणेश के घर के पीछे तरफ गये, लल्ला उर्फ दयाराम बैगा घर के सामने दरवाजा तरफ चला गया। मैं, पिन्टू और नसीम गणेश बैगा के घर के पीछे बने कुआं के पास खड़े थे। नसीम को मालूम था कि गणेश बैगा के घर के पीछे तरफ दरवाजा नहीं लगा है,फिर नसीम पीछे तरफ से गणेश के घर अंदर गया नसीम ने गणेश बैगा को घर से बुलाकर घर के पीछे कुआं के पास
लाया जिसे मैं, पिन्टू और नसीम दबोचकर जमीन में पटक दिये गणेश बैगा के पैर को नसीम जोर से पकड़ लिया
गणेश के दोनो हाथ को पिन्टू कुशवाहा जोर से पकड़ लिया तब कान्हा कचरे गणेश बैगा के सिर को एक हाथ से पकड़कर दूसरे हाथ से गणेश बैगा के गला में जोर से चापर से मारा तो उसका गला आधा कट गया और गणेश बैगा ने दम तोड़ दिया। फिर गणेश बैगा के पैंट को चेक किया तो पेंट के जेब से एक मोबाईल मिला जो चालू था जिसे बंद किया और सिम निकालकर तोड़कर उसी के कुआं में फेंक दिया था। और मोबाईल को रख लिया था। उसी समय लल्ला उर्फ दयाराम बैगा, गणेश बैगा के घर के सामने तरफ से हमारे पास आ गया और चारों लोग घर के अंदर गये तो देखे कि झुरू बैगा बेड में लेटा सो रहा था पिन्टू बैगा ने झूरू बैगा का दोनो हाथ जोर से पकड़ लिया और नसीम और लल्ला ने झूरू के दोनो पैर को जोर से पकड़कर दबोच लिये तब झूरू बैगा के गला को चापर से मारा जिसका आधा गला कट गया खून बहने लगा और झूरू बैगा तड़प तड़प कर मर गया तब सभी लोग बगल वाले कमरा जहां आलमारी और पेटी रखी थी आलमारी खुला था पेटी में ताला लगा था, सभी लोग आलमारी को तलाशे तो कपड़ा रखा था पैसा, सोना चांदी नही मिला तब नसीम ने कहा की पेटी में पैसा और सोना चांदी रखा है देखा हूँ तब सभी लोग मिलकर पेटी के ताला का कुंदा को साथ में लेकर गये राड, पेचकस और हथौड़ी से तोड़कर सभी लोग पेटी को तलाशे तो एक झोला में पांच पांच सौ रूपये के नोट मिले, झोले के बगल में एक
पन्नी रखा था जिसमें जेवर रखा था, पैसा का झोला, और जेवर वाले पन्नी, राड और पेचकस को नसीम रखा, गणेश का मोबाईल और चापर को लिया था, लल्ला हथौड़ी रखा था, पिन्टू राड रखा और वहां से जिस रास्ते से गणेश के घर गये थे उसी रास्ते से वापस मेरे पोल्ट्री फार्म में आ गये और सभी लोग सो गए। पोल्ट्री फार्म के कमरा में झोला से पैसा निकालकर में पैसा गिना तो पन्द्रह हजार रूपये था, जेवर
वाले पन्नी को खोलकर देखे तो पत्नी के अंदर चादी की करधन 02, हाथ का चांदी का चूड़ा 2, गले की सोने की
लाकिट 2, सोने की अंगठी मिला तब हम लोग नसीम को बोले की तु तो बोल रहा था 15 लाख रूपये है यही
15 लाख रूपया है, हम सभी लोग पोल्ट्री फार्म में ही रहे, रात में ही मैं चापर को बंगवार बाईपास रोड से लगे
करकटी जंगल में रोड से करीब डेढ़ दो सौ मीटर अंदर जाकर छिपा दिया था। उसके बाद वापस पोल्ट्री फार्म आ गया और मेरा कपड़ा में खून लगा था जिसे पंप चालू करके धूला और वहीं सूखा दिया था दूसरा कपड़ा पहन लिया। 16 अगस्त 2018 को सुबह करीब पांच छः बजे मैं उठकर ग्राऊण्ड क्रिकेट खेलने चला गया तभी समय करीब 07-08 बजे गांव तरफ हल्ला होने लगा कि गणेश का मर्डर हो गया है, तब ग्राऊण्ड से निकलकर जहां मैंने चापर को रखा था वहां गया और चापर को वहां से निकालकर वहीं पास पानी भरे तालाब में फेंक दिया था। उसके बाद मैं वहां से पोल्ट्री फार्म गया और गणेश का मोबाईल लेकर उसी तालाब के पास आकर मोबाईल को भी तालाब में फेंक दिया उसके बाद वापस पोल्ट्री फार्म चला गया। गणेश बैगा के घर से पन्द्रह हजार रूपये मिला था उसमें से नसीम पांच हजार रूपये ले लिया था। शेष बचे दस हजार रूपये में से मैं, चार हजार रूपये, लल्ला बैगा तीन हजार रूपये, पिन्टु कुशवाहा
तीन हजार रूपये आपस में बांट लिये थे और जो जेवर मिला था उसे करीब दो महिना बाद मैं और पिन्टू बुढ़ार
जाकर पिन्टु के जान पहचान के सचिन स्वर्णकार उर्फ सचिन सोनी को थोड़ा थोड़ा कर बेंचे थे घटना के करीब तीन
महिने बाद मैंने और पिन्टू ने बुढ़ार जाकर सचिन सोनी को एक सोने का लाकिट पांच पत्ती वाला दिया था। तब सचिन सोनी ने हमे 5 हजार 5 सौ रूपये दिया था उसके करीब एक माह बाद आठ लरी वाला करधन सचिन सोनी को ले जाकर दिये थे तब उसने 17 हजार 5 सौ रूपये दिया था। उसके बाद बचे सामान को सचिन को दिये थे तब सचिन 8 हजार रूपये दिया था। पैसा हम लोगो खाने पीने में खर्च कर दिये हैं। आरोपी कान्हा कचेर के बताये अनुसार अन्य आरोपियों से सख्ती से पूछताछ किये जाने पर अन्य आरोपियों ने भी घटना कारित करना स्वीकार किये।

जब्त सामग्री

समस्त चारो आरोपियों से पुलिस द्वारा घटना में प्रयुक्त समस्त सामग्री को इस प्रकार जब्त किया है।एक पुराना लोहे का धारदार चापर (गड़ासा), एक पीले रंग का चौकडी शर्ट व एक जीन्स का पैंट, एक माइक्रोमैक्स कंपनी का सफेद एवं गोल्डन रंग का एन्ड्रायड मोबाईल, एक पेचकस, एक लोहे की राड, एक लोहे की हथौड़ी, एक लावा कंपनी का की पैड मोबाईल, एक लोहे की राड, एक एम.आई. कंपनी का एन्ड्रायड मोबाईल, चांदी की करधन व जेवरात वजन 1.396 कि.ग्रा, सोने के लाकेट वजन 7 ग्राम।

इनकी रही भूमिका

उपनिरी, उमाशंकर चतुर्वेदी थाना प्रभारी खैरहा एवं उनि, सुभाष दुबे चौकी प्रभारी
केशवाही, सउनि ज्ञानेन्द्र सिंह, प्र.आर. रामकरन सिंह, पवन शुक्ला, जयवेन्द्र सिंह, आभाष कुमार, राम नाथ बांधव,
आर. सतीश चौरसिया, पार्थ चौधरी, साउल मोरिस, रौशन कुमार, सुदीप मिश्रा एवं सउनि स्वतंत्र सिंह, आरक्षक सत्य प्रकाश मिश्रा, आरक्षक राजकुमार सिंह की अपराध की डिटेक्शन व अनुसंधान के दौरान साक्ष्य संकलन व आरोपियों की गिरफ्तारी व माल मशरूका की बरामदगी में उल्लेखनीय भूमिका रही, जिन्हे अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन द्वारा नगद ईनाम देने की घोषणा की गई है।

संबंधित पोस्ट

किसान की मेहनत से आपकी थाली तक:हमें 20 रु. किलो मिलने वाला आलू किसानों से आधी कीमत पर खरीदा जाता है, उनकी लागत भी नहीं निकल रही

Khabar 30 din

कोयला संकट: राज्यों पर कोल इंडिया का 20 हजार करोड़ बकाया, वसूली की तैयारी

Khabar 30 din

मौसम विभाग की यहां प्रचंड शीतलहर की चेतावनी, इन इलाकों में कोहरा मचाएगा कोहराम

Khabar 30 din

बीजापुर:जंगल में मिली फॉरेस्ट रेंजर की लाश, नक्सलियों द्वारा हत्या किए जाने की आशंका

Khabar 30 din

शुभेंदु अधिकारी को मोदी की बैठक में बुलाने पर भड़कीं ममता, बोलीं- मेरा जाना मुश्किल

Khabar 30 din

कृषि उपज मंडी के कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर कार्यलय में लगा ताला

Khabar 30 din