ब्रेकिंग न्यूज़
अन्य छत्तीसगढ़ प्रदेश बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़ लोकल ख़बरें

मुख्यमंत्री का अब संगठन के नेताओं से सीधा संवाद, कार्यकर्ताओं की नाराजगी को करेंगे दूर

सत्ता और संगठन के बीच तालमेल और मनोबल बढ़ाने की कवायद। निगम, मंडल और आयोग में खाली पदों से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नाराजगी है।

रायपुर । सत्ता-संगठन में तालमेल और संगठन के लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद संगठन के ब्लाक से लेकर जिला स्तर तक के पदाधिकारियों से सिलसिलेवार सीधा संवाद कर रहे हैं। इसमें मुख्यमंत्री सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की भी जानकारी ले रहे हैं। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को ढाई साल पूरे हो चुके हैं। लेकिन अभी तक निगम, मंडल, आयोग और प्राधिकरण के सभी पदों पर नियुक्तियां नहीं हो सकी है। संगठन में भी बहुत से पद भी खाली हैं। इसे लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नाराजगी है। सत्ता और संगठन का तालमेल न गड़बड़ाए, इसलिए मुख्यमंत्री बघेल ने खुद ही कांग्रेस के ब्लाक और जिलाध्यक्षों से संवाद करने का फैसला लिया है

संवाद का यह सिलसिला शुरू हो चुका है। अब तक मुख्यमंत्री महासमुंद, रायपुर शहर, रायपुर ग्रामीण के जिलाध्यक्षों और ब्लाक अध्यक्षों के साथ संवाद कर चुके हैं। कांग्रेस पदाधिकारियों का कहना है बाकी बचे जिला और ब्लाक अध्यक्षों के साथ भी जल्द ही मुख्यमंत्री एक-एक करके संवाद करेंगे। इस संवाद के दौरान संगठन की गतिविधियों के साथ मुख्यमंत्री राज्य सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन की भी जानकारी ले रहे हैं।

एक-एक योजना की रिपोर्ट और जनता तक पहुंचने का टास्क

कांग्रेस पदाधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने जिन जिलाध्यक्षों और ब्लाक अध्यक्षों के साथ संवाद किया है, उन्हें राज्य सरकार की एक-एक योजना की रिपोर्ट और डाटा तैयार करके जनता तक पहुंचाने का टास्क दिया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा है सरकारी योजनाओं का लाभ जनता को मिले, यह जिम्मेदारी भी कांग्रेस संगठन के लोगों की है। मुख्यमंत्री ने जिला और ब्लाक अध्यक्षों को यह जिम्मेदारी भी दी है कि वे जनता तक पहुंचे और उन्हें यह बताएं कि सरकारी योजनाओं का लाभ कैसे लिया जा सकता है।

कोरोना से मृत कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं से मिलेंगे

कांग्रेस पदाधिकारियों ने बताया कि संवाद के दौरान कुछ जिला और ब्लाक अध्यक्षों ने मुख्यमंत्री को सुझाव दिया है कि कोरोना से जिन कांग्रेस पदाधिकारियों के परिवार में मौत हुई है, उनके परिवार से मुख्यमंत्री या प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम मुलाकात करें। इससे संगठन के दूसरे लोगों का मनोबल बढ़ेगा। इस सुझाव को अमल में लाने का मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है।

संबंधित पोस्ट

ड्रग्स तस्करों के निशाने पर छात्राएं:भोपाल में पढ़ने आई लड़कियों को फंसाकर ड्रग्स की लत लगाते हैं, फिर उनकी मदद से अमीर घर की लड़कियों को शिकार बनाते हैं; 4 तस्कर गिरफ्तार

Khabar 30 din

कोरोना कर्फ्यू में बेसहारा जानवरों की मसीहा बनी हिमांशी

Khabar 30 Din

फोटो में देखिए राहुल-प्रियंका का प्रदर्शन:हाथरस जाने से पुलिस ने रोका तो राहुल झाड़ियों के बीच से निकलते दिखे, चोट लगने पर प्रियंका ने हाल जाना

Khabar 30 din

पहली बार खुलासा:दुनिया का 90% सिंगल यूज प्लास्टिक कचरा 100 कंपनियां पैदा कर रहीं; इनमें अमेरिका की डाउ, चीन की सिनोपेक भी

Khabar 30 din

ट्विटर ने 3 महीने की मोहलत मांगी:सोशल मीडिया सुपरपावर का डर- IT नियमों से अभिव्यक्ति की आजादी खत्म होगी, हमारे कर्मचारियों की सुरक्षा खतरे में

Khabar 30 din

छत्तीसगढ़ में मानव तस्करी:साजदा के कनेक्शन दूसरे राज्य के दलालों से मिले, वैवाहिक विज्ञापन देखकर अधिक उम्र वालों को बनाती थी खरीदार

Khabar 30 din