ब्रेकिंग न्यूज़
अन्य छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति लोकल ख़बरें

कसम पूरी हुई और 20 साल बाद कटी दाढ़ी:सोशल वर्कर रमाशंकर ने कहा था- जब तक मनेंद्रगढ़ जिला नहीं बनेगा, दाढ़ी भी नहीं बनेगी; आज की CM ने घोषणा, पूरे शहर में खुशी का माहौल

कोरिया/मनेन्द्रगढ़
  • पिछले 20 वर्षों से बढ़ी हुई दाढ़ी ही रमाशंकर गुप्त की पहचान थी। आज दाढ़ी बनाने के बाद कुछ अलग अंदाज में नजर आए।

रायपुर के पुलिस परेड मैदान से चार नए जिले बनाए जाने की घोषणा के साथ ही संबंधित क्षेत्रों में अलग तरह का उत्साह उमड़ आया है। मनेंद्रगढ़ के रमाशंकर गुप्त ने नवम्बर 2000 से बढ़ी अपनी दाढ़ी आज कटवा ली। वहीं, मनेंद्रगढ़ क्षेत्र के दोनों विधायक गुलाब कमरो और विनय जायसवाल समर्थकों के साथ नाच उठे।

रमाशंकर, तस्वीर तब की है, जब दाढ़ी बढ़ी थी।
रमाशंकर, तस्वीर तब की है, जब दाढ़ी बढ़ी थी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से मनेंद्रगढ़ को जिला बनाने की घोषणा होते ही शहर के चौक-चौराहों पर लोग उमड़ आए। अबीर-गुलाल उड़ाने के साथ आतिशबाजी होने लगी। सामाजिक कार्यकर्ता रमाशंकर गुप्त के घर भी लोग पहुंचे। उनका संकल्प पूरा होने से दाढ़ी बनाने का आग्रह किया। उसके बाद वहीं नाई बुलाया गया। रमाशंकर गुप्त ने अपनी दाढ़ी बनवाई और गुलाल खेलने में शामिल हो गए। उन्होंने बताया, साल 2000 में जब मध्य प्रदेश से अलग होकर छत्तीसगढ़ राज्य बना, तो मनेंद्रगढ़ को जिला बनाने की मांग तेज हुई थी। उस समय की सरकार ने इसे अनसुना कर दिया। तभी उन्होंने संकल्प लिया था, जब तक मनेंद्रगढ़ जिला नहीं बन जाता वे दाढ़ी नहीं कटाएंगे।

जिले की खुशी में विधायकों का डांस ।
जिले की खुशी में विधायकों का डांस ।

रमाशंकर का संकल्प पूरा होने में पूरे 20 साल लग गए। इधर राजनीतिक लोगों ने भी खुलकर अपनी खुशी का इजहार किया। शहर में एक रैली निकाली गई। इसमें विधायक गुलाब कमरो और विनय जायसवाल खुली गाड़ी में सवार हुए। इस दौरान जब नगाड़े बजने लगे तो दोनों विधायक भी अपने आपको रोक नहींपाए और लोगो के साथ नाचने लगे। लोग घरों से बाहर निकले और एक दूसरे को बधाई देते नजर आए।

1998 में भी हुआ था जिले के लिए प्रदर्शन

विक्ट्री साइन के साथ रमाशंकर।
विक्ट्री साइन के साथ रमाशंकर।

स्थानीय लोगों ने बताया, 25 मई 1998 को जब अविभाजित मध्यप्रदेश में नए जिले बनाए गए थे तब से मनेन्द्रगढ़ को जिला बनाने की मांग हो रही है। उस दौरान शहर में 11 महीने तक क्रमिक अनशन भी हुआ था। आमरण अनशन तक हुआ। कांग्रेस के उस समय के विधायक गुलाब सिंह भी अनशन में बैठे थे। मनेन्द्रगढ़ में कर्फ्यू भी लगा और कई तरह के प्रदर्शन भी हुए।

संबंधित पोस्ट

कोविड-19: देश में संक्रमण के 41,506 नये मामले सामने आए, 895 की जान गई

Khabar 30 din

कोविड-19 वैक्सीन ट्रैकर:भारत के दोनों स्वदेशी वैक्सीन के फेज-2 ट्रायल्स शुरू; नोवावैक्स के लिए सीरम इंस्टीट्यूट बनाएगा 2 अरब वैक्सीन डोज

Khabar 30 din

पुराने मालिक से बदला लेने बनाया प्लान, 10 लाख की लूट करने वाले आरोपी अब बिलासपुर पुलिस की गिरफ्त में

Khabar 30 din

Aaj Ka Rashifal 26 November 2020: आज का राशिफल, जीवनसाथी से मिलेगा सहयोग, आर्थिक समस्या भी होगी दूर

Khabar 30 din

कोरोना वैक्सीन का तीसरा चरण:भोपाल में 2 से 3 हजार लोगों पर कोवैक्सीन का ट्रायल होगा; अगले सप्ताह से दिए जाएंगे डोज

Khabar 30 Din

भाजपाइयों ने सांसद बैज का काफिला रोका तो कांग्रेसी टूट पड़े; दोनों गुटों में झड़प, गाली-गालौज

Khabar 30 din