ब्रेकिंग न्यूज़
koria_1629207454
अन्य छत्तीसगढ़ बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति लोकल ख़बरें

अपनी ही सरकार के फैसले के खिलाफ सिंहदेव:संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने कहा- काका ने पूरा जिला सौंपा था, आंखों के सामने बांट दिया; खड़गवां-सोनहत को कोरिया में करें शामिल

कोरिया
  • संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने कहा, कोई बहन यह नहीं चाहती की उसके भाई अलग हों, लेकिन अब यह सब कुछ हो चुका है।

छत्तीसगढ़ में कोरिया जिले से अलग कर मनेंद्रगढ़ को नया जिला बनाए जाने की घोषणा के साथ ही राजनीति गरमा गई है। कांग्रेसी नेता अपनी ही सरकार के साथ नहीं दिखाई दे रहे हैं। संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने कहा, काका (छत्तीसगढ़ सरकार में पहले वित्त मंत्री रहे रामचंद्र सिंहदेव) ने पूरा कोरिया जिला सौंपा था, पर मेरी आंखों के सामने ही अलग कर दिया गया है। उन्होंने कहा- वे मांगों को CM के सामने रखेंगी। कोई बहन यह नहीं चाहती की उसके भाई अलग हों, लेकिन अब यह सब कुछ हो चुका है।

बैकुंठपुर के घड़ी चौक पर व्यापारियों की ओर से हुई सभा में विपक्ष के साथ ही सत्ता पक्ष के नेता भी पहुंचे थे। भाजपा के पूर्व मंत्री भइयालाल राजवाड़े ने कहा कोरिया जिला पहले से ही छोटा था, उसे और छोटा कर दिया है। आने वाले समय में यहां के लोग कटोरा लेकर भीख मागेंगे, क्योंकि यहां कुछ नहीं रह जाएगा। उन्होंने कहा अब नया जिला बन गया है, लेकिन खड़गवां और सोनहत ब्लाक को कोरिया जिला में शामिल किया जाना चाहिए।

जिले के विभाजन के विरोध में व्यापारी संघ ने बैकुंठपुर में बाजार बंद रखे।
जिले के विभाजन के विरोध में व्यापारी संघ ने बैकुंठपुर में बाजार बंद रखे।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष बोले- पता नहीं था नए जिले की घोषणा होगी
यह बात सामने आ रही है कि जिला बनाने के निर्णय की जानकारी विधायकों भी नहीं थी। ऐसा बताया जा रहा है कि सबकुछ गुपचुप तरीके से किया गया। वहीं सभा में इस बात को कांग्रेस जिलाध्यक्ष नजीर अजहर ने स्वीकार भी कर लिया। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त को नए जिले की घोषणा होगी, इसका अहसास हम लोगों को बिल्कुल भी नहीं था। अब जो होना था, वह हो गया। हम अपनी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री से मिलेंगे।

विभाजन पर इसलिए है सबका अपना दर्द

  • चिरमिरी में इसलिए विरोध क्योंकि नए जिले मनेंद्रगढ़ के साथ नाम शामिल नहीं। जिला मुख्यालय बनाए जाने और कमिश्नरी बनाए जाने की मांग। यह कोरिया का सबसे बड़ा शहर भी है। चिरमिरी का स्थायित्व कोयला खदानों के भविष्य पर टिका हुआ है। यहां डेढ़ लाख आबादी और नगर निगम के 40 वार्ड में करीब 22000 मकान है।
  • बैकुंठपुर के लोग कोरिया जिले का बंटवारा नहीं चाहते। जिला पहले ही छोटा, बंटवारा होने से सिर्फ एक विधानसभा बचेगी। पर्यटन भी चला जाएगा। परिसीमन से पहले ऐसी स्थिति है कि कोरिया में सिर्फ सोनहत ब्लॉक के शामिल होने की चर्चा है। जबकि मनेन्द्रगढ़ को भरतपुर और खड़गवां मिलेगा। हालांकि इस लड़ाई में खड़गवां वासियों से कोई पूछ ही नहीं रहा है।

बैकुंठपुर में व्यापारियों ने बंद रखे बाजार, कमिश्नरी बनाने की मांग
जिले के विभाजन के विरोध में व्यापारी संघ ने बैकुंठपुर में बाजार बंद रखे। इसके चलते पानी दुकान से लेकर मेडिकल स्टोर और होटल तक बंद रहे। व्यापारियों ने ब्लाक खड़गवां और सोनहत को कोरिया जिले में शामिल करने की मांग रखी। कहा, अब बैकुंठपुर में मेडिकल कालेज समेत चार जिले को मिलाकर सरकार कमिश्नरी दे। वहीं चिरमिरी जिला बनाओ संघर्ष समिति और बैकुंठपुर व्यापारियों की ओर से कोर्ट जाने की भी तैयार की जा रही है।

मनेंद्रगढ़ के साथ चिरमिरी का नाम और मुख्यालय बनाने की मांग
चिरमिरी जिला बनाओ संघर्ष समिति ने मंगलवार से ही अनिश्चिकालीन क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दी है। इस बीच समिति की ओर से एक होटल में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि निगम क्षेत्र के लोगों की मांग है कि अब नाम जोड़ने तक मामला शांत नहीं होगा। जिला मुख्यालय, एसपी कार्यालय, जिला अस्पताल, आरटीओ कार्यालय समेत अन्य जरूरी कार्यालय भी चिरमिरी नगर निगम की परिधि में बनना चाहिए।

संबंधित पोस्ट

गुजरात बोर्ड ने जारी की कक्षा दसवीं के नतीजे, 65.18 फीसदी छात्र हुए पास

Khabar 30 din

भारतीय सीमा में घुसे चीनी सैनिक, नागरिकों ने खदेड़ा

Khabar 30 din

डबल मर्डर का आरोपी 10 दिन बाद गिरफ्तार

Khabar 30 din

धूमधाम से मनाई जा रही है मीठी ईद, एक दूसरे को दे रहे मुबारकबाद, पीएम मोदी ने जर्मनी से दी मुबारक

Khabar 30 din

बिकरू हत्याकांड: 37 पुलिसवालों पर होगी कार्रवाई

Khabar 30 Din

250 करोड़ के रेलवे भू-अर्जन घोटाले मामले में सुनवाई:तत्कालीन अपर कलेक्टर समेत 10 पर हुई FIR को रद्द करने की अपील हाईकोर्ट से खारिज

Khabar 30 din
error: Content is protected !!