ब्रेकिंग न्यूज़
क्राईम प्रदेश मध्यप्रदेश शहडोल

MP के इस जिले मे किन्नरो ने कलेक्ट्रेट परिसर जमकर मचाया उत्पात…..हंगामे मे पूर्व विधायक शबनम मौसी भी रही शामिल….

प्रतीक मिश्रा
शहडोल।
मुख्यालय के कोतवाली थानांतर्गत का किन्नरों का विवाद अंततः थाना परिसर पहुंचा। घटना के संबंध में प्राप्त सुचना के अनुसार रीवा संभाग व शहडोल संभाग में किन्नरों के दो गुट है, दोनों गुटों के बीच कई बार पुर्व में भी एक दुसरे के क्षेत्र में पैसे मांगने को लेकर विवाद हो चुका है। इस विवाद का निस्तारण किन्नरों ने आपस में रजामंदी के साथ किया था। समय बीतने के बाद ही कुछ समय से एक ही क्षेत्र में दोनों गुट दोबारा पैसे मांगने जाने लगे थे।

आज दोनों गुट सड़कों पर अचानक आमने सामने हो गए। बुधवार इनकी इलाके को लेकर चली तनातनी बढ़कर विवाद आपसी संघर्ष मे तब्दील कलेक्ट्रेट परिसर मे हो गया यहा कटनी, रीवा, उमरिया और शहडोल के किन्नरो ने जमकर उत्पात मचाया विवाद बढ़ता देख स्थानीय किसी ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना के उपरांत मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षो को समझा कर कोतवाली थाने ले आई। इस विवाद को महिला थाना की डीएसपी सुश्री सोनाली गुप्ता के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी ने मध्यस्ता कर निपटाया और किन्नरों के आपसी रजामंदी का पुराना कागज़ देख कर यह निर्णय लिया कि जिस एक गुट में पास कागज़ है वह इस बुढ़ार क्षेत्र में पैसे मांगेगा और बाकी शहडोल जिला। काफी हीलाहवाली के बाद दोनों गुट समझौते पर तैयार हुआ। हालांकि पूरे विवाद को लेकर सोहागपुर विधानसभा सीट की पूर्व विधायक शबनम मौसी किन्नरो के एक पक्ष को लेकर अंत तक रही।

इसके साथ ही शहडोल संभाग की किन्नरों ने शबनम मौसी का विरोध किया कि इनका जब जिला ही नहीं है तो इनका जिले में आना ही प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है और कलेक्ट्रेट व पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने विवाद की स्थिति जो निर्मित हुई वह शबनम मौसी के कारण ही निर्मित हुई है और शबनम मौसी ने पूर्व में भी विवाद निर्मित कराया था और समय बीतने के साथ ही अब दोबारा इलाके को लेकर विवाद निर्मित करा रही हैं। इतना ही नहीं शबनम मौसी पूर्व में विधायक थी तो वह अपने पद वा धन का रौब दिखाकर, पंच द्वारा दिया गया जिले का प्रभार को अपने हैंडओवर करना चाहती हैं इसलिए वह समय का फायदा उठाते हुए विवाद करना चाहती हैं और हमको दबाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन हम कभी नहीं दबेंगे और अपने गुरु के लिए व सदस्यों के लिए जान गवाना मंजूर है लेकिन क्षेत्र देने के लिए हम हमेशा लड़ते रहेंगे और लड़ने के लिए तत्पर हैं चाहे शबनम मौसी कुछ भी कर ले ऐसा कहना है सोनाली मौसी के सदस्यों का और सदस्यों ने इसका विरोध कोतवाली में हो रहे समझौते में भी अपना विरोध जताया है।

संबंधित पोस्ट

MP में कोरोना से दो और पूर्व विधायकों की मौत:24 घंटे में नए मरीजों से ज्यादा ठीक हुए; CM शिवराज के गृह जिले सीहोर में 10 मई की सुबह तक लॉकडाउन बढ़ाया

Khabar 30 Din

छत्तीसगढ़-बलरामपुर वन मण्डल के राजपुर, चांदो, कुसमी, शंकरगढ़, रामानुजनगंज वनपरिक्षेत्रो में चला जमकर फर्जी देयक भुगतान ? पढ़े पूरी खबर

Khabar 30 Din

पंजाब में 6 साल की बच्ची से रेप, फिर पटककर मारा; सबूत मिटाने के लिए आरोपी के दादा ने लाश जला दी

Khabar 30 Din

मध्‍य प्रदेश में 23 करोड़ के स्प्रिंकलर घोटाले में 11 कंपनियां ब्लैक लिस्ट

Khabar 30 Din

मुंबई में हाईटाइड के दौरान 10-13 फीट ऊंची लहरें देखने को मिली, 185 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं; अभी भी कई इलाकों में जारी है भारी बारिश

Khabar 30 din

भोपाल में 24 घंटे में 4 नए केस:लद्दाख से घूमकर लौटा 17 साल का लड़का पॉजिटिव; कोलार और गांधीनगर में वैक्सीन का पहला डोज लगाने वाले 2 लोग पॉजिटिव

Khabar 30 din