ब्रेकिंग न्यूज़
orig_orig371612468126_1635019616
अन्य कारोबार क्राईम ब्रेकिंग न्यूज़ स्वास्थ्य

फर्जीवाड़ा:ईएसआई की महंगी दवा बेचने के आरोप में डॉक्टर समेत 5 अरेस्ट, मरीजों को बिना जरूरत की महंगी दवाएं भी लिखते थे

नई दिल्ली

क्राइम ब्रांच ने ईएसआई डिस्पेंसरी की दवाएं फर्जीवाड़ा कर बेचने के आरोप में एमबीबीएस डॉक्टर समेत पांच लोगों को अरेस्ट किया है। इनमें दो फार्मासिस्ट है। इनकी पहचान ग्रेटर, नोएडा निवासी डॉ. अविनाश सैनी (41), ग्रीन फील्ड कालोनी, फरीदाबाद निवासी फार्मासिस्ट चंद्र प्रकाश (33), फार्मासिस्ट अंकित मिश्रा (23), व दो दवाओं के खरीदार प्रवीन मंगला (40) और सुमेश राठी (52) के रूप में हुई।

आरोपी डॉक्टर अविनाश सैनी मरीजों को बिना जरूरत की कीमती दवाएं लिख देते थे। बाद में इन दवाओं को डिस्पेंसरी के स्टाक से निकालकर बेच दिया जाता था। आरोपी चंद्र प्रकाश ओखला स्थित ईएसआई की डिस्पेंसरी में फार्मासिस्ट है, अविनाश भी वहीं एमबीबीएस डॉक्टर है, जबकि अंकित मिश्रा तिगड़ी स्थित डिस्पेंसरी में फार्मासिस्ट है।

बदरपुर इलाके में दवाएं बेचते रंगे हाथ पकड़ा
क्राइम ब्रांच डीसीपी राजेश देव ने बताया इनपुट मिला था कुछ लोग ईएसआई डिस्पेंसरी की दवा मार्केट में बेंच रहे हैं। सूचना के बाद इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी व एसआई कृष्ण कुमार ने आरोपितों की जानकारी जुटाना शुरू कर दी। सूचना के बाद पुलिस की टीम ने बदरपुर इलाके से दवाएं बेचते हुए रंगे हाथों चंद्र प्रकाश व प्रवीन मंगला को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से ईएसआई डिस्पेंसरी में इस्मेमाल की जाने वाली लाखों की दवाइयों मिली।
सभी दवाइयों पर ईएसआई की मोहर लगी थी। पूछताछ के दौरान आरोपित दवाइयों के बारे में कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए। पुलिस ने दवाईयों को कब्जे में लेकर उनकी स्टाक रिकॉर्ड से जांच की। सभी दवाइयों ईएसआई कार्ड धारकों को जारी की हुई दिखाई गई थीं। कुछ मामलों में कार्ड धारक डिस्पेंसरी आए ही नहीं थे, लेकिन उनके नाम पर दवाई जारी थीं। पुलिस सभी पहलुओं पर तहकीकात कर रही है।

डॉक्टर दवाइयां के पर्चे पर खास तरह का निशान लगाकर देता था
पुलिस की जांच में यह बात सामने आई फार्मासिस्ट के कहने पर डॉक्टर अविनाश मरीजों के पर्चे पर ऐसी दवाइयां लिख देता था। उन पर खास तरह का निशान लगा दिया जाता था। निशान देखकर मरीजों को वह दवाइयां न देकर उनकी जरूरत भर की ही दवाइयां ही दी जाती थीं। चंद्र प्रकाश से पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपित डॉक्टर अविनाश और, सुमेश राठी व अंकित मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। चंद्र प्रकाश ओखला स्थित ईएसआई की डिस्पेंसरी में फार्मासिस्ट है, अविनाश भी वहीं एमबीबीएस डॉक्टर है, जबकि अंकित मिश्रा तिगड़ी स्थित डिस्पेंसरी में फार्मासिस्ट है।

संबंधित पोस्ट

आर्यन ख़ान ड्रग्स केस: आर्थर रोड जेल को सबसे ख़तरनाक जेल क्यों कहा जाता है?

Khabar 30 din

रायपुर : मंत्री श्रीमती भेंड़िया ने दी कई विकास कार्यों की सौगात

Khabar 30 din

Update Aadhaar Address Online: जानिए किस तरह घर बैठे आधार कार्ड में ऑनलाइन अपडेट किया जा सकता है पता

Khabar 30 din

खरगोन में गैंगरेप:पीड़िता को अगवाकर 200 मीटर दूर खेत में ले गए थे लड़के, कांग्रेस बोली- शिवराजजी, यही राक्षसराज वापस लाने के लिए विधायक खरीदे थे?

Khabar 30 din

अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज से कैदी फरार:कोरोना संक्रमित मिलने पर 5 दिन पहले कराया गया था भर्ती, ड्यूटी पर तैनात प्रहरी सस्पेंड

Khabar 30 din

टूटी सड़क ने ली महिला की जान:पति के साथ लौट रही थी, बाइक उछलने से गिरी, ट्रेलर ने कुचला; गुस्साए लोगों का हंगामा

Khabar 30 din
error: Content is protected !!