ब्रेकिंग न्यूज़
Narsinhanand-Saraswati-Facebook
अन्य उत्तरप्रदेश क्राईम प्रदेश बड़ी खबर ब्रेकिंग न्यूज़

यूपी पुलिस ने कट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद पर ग़ुंडा एक्ट लगाने की प्रक्रिया शुरू की

कट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद ग़ाज़ियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत हैं. वह नरसिंहानंद अपनी मुस्लिम विरोधी टिप्पणियों को लेकर चर्चा में रहते हैं. इस महीने की शुरुआत में उन्होंने आरोप लगाया था कि एक मुस्लिम लड़के को उनकी जासूसी के लिए भेजा गया था. इसी साल मार्च में डासना मंदिर में एक मुस्लिम लड़के के पानी पीने लेने से उसकी पिटाई की गई थी. जिस शख़्स ने लड़के को पीटा था, नरसिंहानंद ने उसका समर्थन किया था.

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस ने डासना देवी मंदिर के महंत और कट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ ‘गुंडा एक्ट’ लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

उन्हें हाल में जूना अखाड़ा का महामंडलेश्वर नियुक्त किया गया था.

पुलिस ने इस सिलसिले में मंजूरी के लिए उपसंभागीय मजिस्ट्रेट को एक फाइल भेजी है, जिसके बाद यह जिला पुलिस प्रमुख और जिलाधिकारी की स्वीकृति के लिए भेजी जाएगी.

नरसिंहानंद ने खुद के जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर नियुक्त किए जाने के बारे में हाल में अपने फेसबुक पेज पर जानकारी साझा की थी.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पवन कुमार ने कहा कि उन्होंने मारपीट, हत्या का प्रयास, अपमानजक भाषा का इस्तेमाल और मंदिर के बाहर जांच से पुलिस को रोकने जैसी गतिवधियों को ध्यान में रखते हुए कार्रवाई शुरू की है.

अधिकारी ने कहा कि नरसिंहानंद जिले की कानून व्यवस्था के लिए खतरा बन गए हैं.

नरसिंहानंद अपनी विवादास्पद टिप्पणियों को लेकर चर्चा में रहे हैं. उन्होंने इस महीने की शुरुआत में आरोप लगाया था कि एक मुस्लिम लड़के को उनकी जासूसी के लिए भेजा गया था और लड़के के समुदाय में उसकी उम्र के प्रशिक्षित हत्यारे हैं.

सोशल मीडिया पर सामने आए एक वीडियो क्लिप में नरसिंहानंद को बगल में खड़े लड़के पर मंदिर परिसर में ‘रेकी’ करने का आरोप लगाते हुए सुना जा सकता है.

इससे पहले देश के शीर्ष क्षेत्रों में कोई भी मुसलमान भारत समर्थक नहीं हो सकता कहते हुए उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को एक ‘जिहादी’ कहा था. उन्होंने कलाम पर परमाणु बम का फॉर्मूला पाकिस्तान को बेचने का आरोप लगाया था.

महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने को लेकर उन पर करीब दो महीने पहले एक मामला दर्ज किया गया था.

खबर 30 दिन ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट्स में बताया था कि किस तरह नरसिंहानंद द्वारा दी गई हेट स्पीच के चलते फरवरी 2020 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भयानक दंगे भड़के थे.

नरसिंहानंद और उनके तथाकथित शिष्यों को आए दिन मुस्लिमों के खिलाफ नियमित तौर पर हिंसक और भड़काऊ भाषण देते हुए देखा जा सकता है.

इस साल मार्च महीने में गाजियाबाद का डासना मंदिर उस समय विवादों में आया था, जब मंदिर में पानी पीने गए 14 साल के एक मुस्लिम लड़के की वहां काम करने वाले शृंगी नंदन यादव नाम एक शख्स ने क्रूरता से पिटाई की थी. इस शख्स को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि, बाद में नरसिंहानंद ने आरोपी का समर्थन किया था.

खबर 30 दिन ने पहले भी अपनी रिपोर्ट में बताया था कि नरसिंहानंद ने मीडिया संगठनों को एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, जामिया मिलिया इस्लामिया और दारुल उलूम देवबंद जैसे कुछ चुनिंदा शिक्षण संस्थानों के छात्र भारत के संविधान के प्रति सच्ची आस्था और निष्ठा नहीं रख सकते और भारत की संप्रभुता एवं अखंडता को बनाए नहीं रख सकते.

इसके अलावा दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मोहम्मद पैगंबर के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने पर धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में नरसिंहानंद के खिलाफ इस साल अप्रैल में भी मामला दर्ज किया गया था.

संबंधित पोस्ट

जहरीली होती हवा:इस साल पंजाब में सबसे ज्यादा पराली जली, क्या इसके पीछे कृषि बिल को लेकर किसानों का गुस्सा है

Khabar 30 Din

100 साल की हुई AMU:कभी तवायफों के कोठे से लिया चंदा, कभी घुंघरू बांधकर मंच पर उतर आए थे सर सैयद

Khabar 30 din

5 राज्यों में चुनाव तारीखों का ऐलान:7 चरणों में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव, शुरुआत 10 फरवरी को यूपी से, सभी नतीजे 10 मार्च को

Khabar 30 din

ला नीनो के प्रभाव के कारण हवा का प्राकृतिक बहाव उत्तर से दक्षिण रहेगा, इसलिए रात का पारा अगले दो माह तक सामान्य से 1 डिग्री तक कम रहेगा

Khabar 30 din

हाथरस गैंगरेपः पुलिस पर युवती का जबरन अंतिम संस्कार करने का आरोप, जांच के लिए एसआईटी गठित

Khabar 30 din

सुहागरात पर MBA टॉपर पति ने पत्नी के सामने रखी ऐसी शर्त, सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे, जानें- फिर क्या हुआ

Khabar 30 din
error: Content is protected !!