ब्रेकिंग न्यूज़
xscdvfg-1635421568.jpg.pagespeed.ic.O5Ob0tLBC4
COVID 19 ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना वायरस: कर्नाटक में AY.4.2 वेरिएंट के दो मामले मिले, क्या ये तीसरी लहर के संकेत?

बेंगलुरू, 28 अक्टूबर: कर्नाटक में कोरोना वायरस के एक नए वेरिएंट AY.4.2 के दो मामले पाए गए हैं। दोनों मामलों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग में नए वेरिएंट की पुष्टि हुई है। बेंगलुरु में दो पॉजिटिव मराजों में AY.4.2 वेरिएंट मिला है। इस वेरिएंट के चलते यूके, जर्मनी और रूस में कोरोना के मामलों में तेजी से उछाल आया है। भारत में कई शहरों में इस वेरिएंट के मिलने के बाद यहां भी तीसरी लहर की आशंका हो गई है। वहीं कर्नाटक सरकार इस नए वेरिएंट के मिलने के बाद फिर से पाबंदियां बढ़ाने पर विचार कर रही है।

कर्नाटक सरकार हुई सतर्क

कर्नाटक सरकार हुई सतर्क

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के सुधाकर ने लोगों को आगाह किया है कि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि नए वेरिएंट के मामलों को लकर विशेषज्ञों से चर्चा करने के बाद मैं मुख्यमंत्री को भी इस बारे में जानकारी दूंगा और नए दिशा-निर्देशों पर फैसला लूंगा। उन्होंने कहा कि हम भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के साथ भी चर्चा करेंगे। यूके और रूस में इसी नए वेरिएंट के कारण तीसरी लहर शुरू हो गई है। ऐसे में तमाम एहतियाती कदम उठाए जाएंगे।

 दुनिया के कई देश मान रहे तीसरी लहर की वजह

दुनिया के कई देश मान रहे तीसरी लहर की वजह

इस वेरिएंट की वजह से इंदौर जिले में अगस्त के मुकाबले सितंबर में संक्रमण में 64 फीसदी का इजाफा हो गया था। ऐसे में इसको लेकर चिंताएं हैं। महाराष्ट्र में भी इसके मरीज मिल चुके हैं। यूके और यूरोपियन देशों के बाद अब एशिया में ये वेरिएंट फैल रहा है। रूस और इजरायल से डेल्‍टा स्‍ट्रेन के एक सब-वेरिएंट के मामले पता चले हैं। AY.4.2 नाम के इस सब-वेरिएंट को मूल डेल्‍टा वेरिएंट से 10-15 फीसदी ज्‍यादा संक्रामक बताया जा रहा है।

क्या है एवाई.4.2 वेरिएंट

क्या है एवाई.4.2 वेरिएंट

एवाई.4.2 वेरिएंट कोरोना का अधिक संक्रामक स्ट्रेन है। ये उसी परिवार का हिस्सा है, जिसकी पहचान बी.1.617.2 या डेल्टा के रूप में की गई है अभी तक के साक्ष्यों से यह संकेत मिले हैं कि यह डेल्टा वेरिएंट से ज्यादा तेजी से फैलता है। यूके में इसे ‘वेरिएंट अंडर इंवेस्टिगेशन’ घोषित किया गया है। हालांकि मौजूदा सबतों से यह नहीं लगता कि ‘वेरिएंट अंडर इंवेस्टिगेशन’ गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है या कोविड टीकों के प्रभाव को कम कर सकता है।

संबंधित पोस्ट

सरकार MP में स्कूल बंद कब होंगे?:एक दिन में 2300 केस फिर भी मासूमों की ऑफलाइन क्लास; राजस्थान में 3000 मरीजों पर 12वीं तक बंद

Khabar 30 din

अब ब्लैक फंगस की दवा का टोटा:भोपाल के हमीदिया अस्पताल में 10 दिन से एंटी फंगस लाइपोसोमल एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन नहीं, मरीजों के परिजन दूसरे शहरों से मंगा रहे

Khabar 30 din

गरीबों की छत पर सियासी बहस:डॉ रमन ने पूछा-अरे जब ममता बनर्जी PM अवास बनवा रहीं, भूपेश जी को क्या दिक्कत है

Khabar 30 din

अब नहीं होगी फिटबैंड की जरूरत, फोन का कैमरा ट्रैक करेगा हार्ट रेट और सांसें, गूगल लाया ये फीचर

Khabar 30 din

32 वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का पत्रकारों ने किया बहिष्कार

Khabar 30 Din

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने किया गैंग का पर्दाफाश:दूसरे परिवार की खुशियां छीनकर निसंतान दंपतियों को बेचने वाले 8 गिरफ्तार

Khabar 30 din
error: Content is protected !!