ब्रेकिंग न्यूज़
IMG-20211030-WA0061
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ लोकल ख़बरें

संघ विरोधी गतिविधियों में संलिप्त उप प्रांताध्यक्ष हरिशंकर सिंह लिपिक संघ से निकाले गये..

कोरिया/ छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के वरिष्ठ उप प्रांताध्यक्ष श्री हरिशंकर सिंह को संघ विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के कारण छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री रोहित तिवारी द्वारा संघीय पदों से मुक्त करते हुये उनकी प्राथमिक सदस्यता निरस्त कर दिया है। हरिशंकर सिंह लिपिक संघ के महत्वपूर्ण पदाधिकारी थे, वे वरिष्ठ उप प्रांताध्यक्ष के साथ ही कोर कमेटी मेम्बर एवं आंदोलन रणनीति समिति के अध्यक्ष थे।


उनके खिलाफ सरगुजा संभाग सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों से संघ विरोधी क्रियाकलाप की शिकायत निरंतर मिल रही थी। पुख्ता प्रमाण मिलने के उपरांत प्रदेश अध्यक्ष श्री रोहित तिवारी ने सरगुजा संभाग के पदाधिकारियों के साथ आपातकालीन बैठक बैकुंठपुर (कोरिया) में किया।

आपातकालीन बैठक में संघ के प्रदेश महामंत्री श्री सुशील टोप्पो, उप प्रांताध्यक्ष श्री के.जेड. उस्मानी, संभागीय अध्यक्ष श्री विकाश कश्यप, सरगुजा जिलाध्यक्ष श्री अखिलेश सोनी, सचिव श्री आलोक कुशवाहा, बलरामपुर जिलाध्यक्ष श्री रमेश तिवारी, सूरजपुर जिलाध्यक्ष मो इक़बाल अंसारी, कोरिया जिलाध्यक्ष मो सादिक़ अख्तर, श्री रोहित साहू, श्री रितेश गुप्ता व अन्य मौजूद रहे।

बैठक के दौरान श्री हरिशंकर सिंह के क्रियाकलापों पर चर्चा करते हुये प्रमाण सबके समक्ष प्रस्तुत गया। उपस्थित पदाधिकारियों ने एक मत होकर श्री हरिशंकर सिंह के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्यवाही की माँग किया। जिस पर सर्व सम्मति से प्रदेश अध्यक्ष ने उन्हें संघ से निष्कासित कर दिया।

प्रदेश अध्यक्ष श्री रोहित तिवारी ने कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं की जायेगी। संघ की एकता एवं अखंडता के लिये ऐसे कठोर निर्णय लेना आवश्यक है। प्रदेश में लिपिकों के सबसे बड़े एवं सक्रिय संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी द्वारा संघ में इस प्रकार फूट डालने का कुत्सित प्रयास करना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। संघ का प्रत्येक पदाधिकारी एवं सदस्य संघ संविधान के अनुरूप मर्यादित व्यवहार करें, एवं संघ के उद्देश्यों की पूर्ति में सहायक बनें, विघ्न संतोषी व्यक्तियों हेतु इस संघ में कोई स्थान नहीं है।

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व भी एक लिपिक संगठन ने हरिशंकर सिंह को संघ से निष्कासित कर दिया था, जिसके बाद उन्हें प्रदेश लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ में स्थान देते हुये महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गयी थी।

परन्तु श्री हरिशंकर सिंह अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आये, विगत कई वर्षों से संघ में रहकर निजी स्वार्थ सिद्धि हेतु संघ विरोधी गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे।

हरिशंकर सिंह के संघ से निष्कासन होने से सरगुजा संभाग सहित प्रदेश भर के लिपिकों में हर्ष व्याप्त है, सभी ने प्रदेश अध्यक्ष के इस साहसिक निर्णय का स्वागत किया।

संबंधित पोस्ट

ला नीनो के प्रभाव के कारण हवा का प्राकृतिक बहाव उत्तर से दक्षिण रहेगा, इसलिए रात का पारा अगले दो माह तक सामान्य से 1 डिग्री तक कम रहेगा

Khabar 30 din

US House of Representatives passes Trump-backed coronavirus relief package

Khabar 30 din

यूरोप के 30 देशों में 20 अनलॉक:ब्रिटेन के बाद इटली, फ्रांस, ग्रीस भी अनलॉक के रास्ते पर, अगले हफ्ते तक ज्यादातर पाबंदियां हट जाएंगी

Khabar 30 din

कंगना ने कहा-1947 में आजादी नहीं, बल्कि भीख मिली थी, आजादी 2014 में मिली; बयान पर विवाद छिड़ा

Khabar 30 din

Bihar Elections 2020: पहले चरण की 71 सीटों पर आज थम जाएगा प्रचार, देखिए क्या कहते हैं चुनावी गणित

Khabar 30 Din

कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद कांग्रेस सांसद राजीव सातव का निधन

Khabar 30 din
error: Content is protected !!