ब्रेकिंग न्यूज़
vidhayak-pandey_1635860960
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति

बिलासपुर कलेक्टर पर राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग:MLA शैलेष पांडेय ने CM को लिखा पत्र

बिलासपुर

बिलासपुर के कांग्रेस विधायक शैलेष पांडेय ने कलेक्टर डॉ. सांराश मित्तर पर राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग की है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को एक पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि कलेक्टर सत्ताधारी दल के जनप्रतिनिधियों का अपमान करते हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई कर कलेक्टर को तुरंत हटाया जाए। मामला राज्योत्सव के कार्यक्रम से जुड़ा हुआ है।

विधायक पांडेय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लिखे पत्र में कहा है कि अत्यंत खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि बिलासपुर के कलेक्टर डॉ. सांराश मित्तर आपकी सरकार और निर्वाचित जन प्रतिनिधियों का अपमान लगातार कर रहे हैं।

कलेक्टर डॉ. सांराश मित्तरकलेक्टर डॉ. सांराश मित्तर

राज्योत्सव के आयोजन को लेकर जताई नाराजगी
विधायक पांडेय ने पत्र में लिखा है कि एक नवंबर को राज्य के स्थापना दिवस पर शासन के निर्देश पर मुख्य अतिथि बनाने और अन्य अतिथियों के चयन की जिम्मेदारी कलेक्टर को दी गई थी। इसके मुताबिक जिले में अन्य अतिथियों का चयन कलेक्टर को करना था। राज्य स्थापना दिवस में तो सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्ष के विधायकों को भी आमंत्रित किया जाना चाहिए था।

जनता से निर्वाचित विधायक सत्ता पक्ष के जो कि आपकी सरकार का अंग भी हैं उनको आमंत्रित नहीं किया गया। साथ ही अन्य जनप्रतिनिधि जैसे महापौर, सभापति, ज़िला पंचायत अध्यक्ष का सम्मान पूर्वक कार्ड में नाम लिखकर आमंत्रित नहीं किया गया था। जबकि अन्य जिलों के कार्ड में वहां के कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को सम्मानपूर्वक राज्य उत्सव में अतिथि बनाकर बुलाया गया।

इस तरह का पत्र विधायक ने CM को लिखा है।

इस तरह का पत्र विधायक ने CM को लिखा है।

लेकिन बिलासपुर कलेक्टर द्वारा तानाशाही रवैया अपनाते हुए आपकी सरकार और निर्वाचित जनप्रतिनिधियों का अपमान किया गया है। सिर्फ सामान्य कार्ड द्वारा आम आदमी के जैसे कार्ड भेज दिया गया। विधायक के पत्र के अनुसार इसे लेकर मुख्य अतिथि ने भी नाराजगी व्यक्त की है।

उन्होंने पत्र में लिखा है कि कलेक्टर ने जनता की सरकार का अपमान किया है। जो राजद्रोह की श्रेणी में आता है। प्रशासन के अधिकारी आए दिन इस प्रकार का अपमान करते रहते हैं, जिससे आपकी सरकार की छवि एवं चुने हुए जन प्रतिनिधियों की छवि धूमिल हो रही है, जिसके कारण जनता में अच्छा संदेश नहीं जा रहा है।

पुलिस पर भी लगाए थे गंभीर आरोप
शहर विधायक पांडेय ने 9 नवंबर 2020 को तारबाहर थाने का लोकार्पण के दौरान गृहमंत्री की मौजूदगी में मंच पर पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाते हुए वसूली करने का आरोप लगाया था। अपनी ही सरकार की खिलाफत और बेबाक टिप्पणी करने को लेकर वो हमेशा सुर्खियों में रहते हैं।

संबंधित पोस्ट

महाराष्ट्र में पोलियो ड्रॉप की जगह बच्‍चों को पिलाया सैनिटाइजर, 12 बच्‍चे बीमार

Khabar 30 din

राकेश अस्थाना संबंधी याचिका पर सरकार ने कहा, कथित अखंडता रक्षक हर नियुक्ति को चुनौती देते हैं

Khabar 30 din

बड़े ब्रांड के नाम पर नकली जूतों का कारोबार:ग्वालियर-दतिया में एटोक्स, MPR और APAR ब्रांड के नाम से नकली जूता बनाने वाली 2 फैक्ट्री पकड़ाई; 5 करोड़ का माल जब्त

Khabar 30 din

मध्य प्रदेश में ऑनलाइन एडमिशन:पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन के लिए फीस भरने का आज अंतिम दिन; सिर्फ 23 हजार ने दाखिला लिया, एक लाख से ज्यादा सीटें खाली, यूजी में नए रजिस्ट्रेशन कल तक

Khabar 30 din

रायपुर : राज्य शासन ने सभी मनरेगा श्रमिकों को एकरूपता से मजदूरी भुगतान के लिए केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय को लिखा पत्र

Khabar 30 din

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा- वीर दास को राज्य में कार्यक्रम करने की इजाज़त नहीं

Khabar 30 din
error: Content is protected !!