ब्रेकिंग न्यूज़
jnj-main_1635931860
कारोबार छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग न्यूज़

CG के कोयला खदानों में प्रदर्शन:कोरबा में बोनस की मांग को लेकर 700 कर्मचारियों ने खोला मोर्चा; जांजगीर में 200 मजदूरों ने किया काम बंद

कोरबा/जांजगीर
  • जांजगीर में 200 मजदूरों ने काम बंद कर रखा है।

छत्तीसगढ़ के कोयला खदानों और बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों में काम करने वाले मजदूरों और कर्मचारियों ने प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कोरबा में SECL के मानिकपुर और कुसमुंडा खदान में निजी कंपनी के करीब 700 कर्मचारियों ने दिवाली पूर्व वेतन और बोनस की मांग को लेकर प्रदर्शन शुरू किया है। वहीं जांजगीर के अटल बिहारी वाजपेयी ताप विद्युत गृह मड़वा में काम करने वाले 200 ठेका मजदूरों ने काम बंद कर दिया है। इनकी मांग है कि लंबित भूगतान शीघ्र किया जाए और जो बोनस देकर वापस मांगा जा रहा है। उसे वापस नहीं लिए जाए।

कोरबा में प्रदर्शन के चलते गाड़ियां इस तरह से खड़ी रहीं।
कोरबा में प्रदर्शन के चलते गाड़ियां इस तरह से खड़ी रहीं।

दरअसल, कोरबा के मानिकपुर में 300 और कुसमुंडा खदान में करीब 400 कर्मचारी नारायणी सन्स एंड प्राइवेट लिमिटेड के अंडर काम करते हैं। यह कर्मचारी कोयला निकालने के पहले मिट्‌टी निकालने का काम खदानों में करते हैं। जिसे ओवरबर्डन प्रोडक्शन (ओबी) कहा जाता है। इन कर्मचारियों में ड्राइवर, ऑपरेटर और हेल्पर शामिल हैं।

इन कर्मचारियों की मांग है कि दिवाली पूर्व इन्हें वेतन दे दिया जाए। वहीं बोनस भी दिया जाना चाहिए। इसके लिए कर्मचारियों ने पहले मंगलवार को नाइट शिफ्ट में काम बंद किया था। फिर सुबह की शिफ्ट और अब दोपहर की शिफ्ट ने भी काम बंद कर दिया है। कर्मचारियों ने बताया कि उन्होंने इन मांगों को लेकर पहले भी प्रदर्शन किया था। मगर इस पर अब तक ध्यान नहीं दिया गया है। बताया गया कि यदि प्रबंधन इस पर जल्द ध्यान नहीं देता है तो ओवरबर्डन प्रोडक्शन का काम बुरी तरह प्रभावित हो सकता है।

कोरबा में प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों में ड्राइवर, ऑपरेटर और उनके हेल्पर शामिल हैं।
कोरबा में प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों में ड्राइवर, ऑपरेटर और उनके हेल्पर शामिल हैं।

इधर, जांजगीर के मड़वा स्थित अटल बिहारी वाजपेयी ताप विद्युत गृह के ठेका मजदूरों ने भी भी प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। यहां बड़ी संख्या में मजदूर ठेकेदारों के अंडर काम करते हैं। मजदूरों का कहना है कि इन्हें बोनस के रूप में 7 हजार रुपए दिए गए थे। जिसे अब कैश के रूप में वापस मांगा जा रहा है। कई मजदूरों से पैसे वापस भी ले लिए गए हैं। मजदूरों ने बताया कि हमारा पहले का भी भुगतान बकाया है। जो अब तक नहीं मिला है। इसी वजह से छत्तीसगढ़ विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन के बैनर तले 200 मजदूर बुधवार को सुबह से ही प्रदर्शन कर रहे हैं।

जांजगीर में मजूदर छत्तीसगढ़ विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे हैं।
जांजगीर में मजूदर छत्तीसगढ़ विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे हैं।

इन मजदूरों ने मंगलवार को भी कंपनी प्रबंधन को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा था। इसके बावजूद बुधवार तक कोई बात नहीं बनी है। मजदूरों का आरोप है कि ठेकेदार कंपनी की सह पर काम कर रहे हैं और मनमानी कर रहे हैं। मजदूरों ने बताया के हमें श्रम कानूनों के अनुरूप न्यूनतम वेतन भी नहीं दिया जा रहा है। इसके अलावा हमें छटनी करने की भी धमकी दी जाती है। फलहाल कंपनी की तरफ से अभी तक किसी प्रकार की बातचीत नहीं की गई है।

संबंधित पोस्ट

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख गिरफ़्तार

Khabar 30 din

बलोदाबाजार में घटना:युवक ने कोरोना की दवाई बताकर परिवार को पिला दिया जहर; तीन बच्चों और पत्नी सहित अस्पताल में भर्ती

Khabar 30 din

बॉलीवुड की थाली में छेद:कंगना बोलीं- जयाजी, आप और आपकी इंडस्ट्री ने कोई थाली नहीं दी, मैंने अपनी थाली खुद सजाई है; शिवसेना सरकार ने अमिताभ के घर की सुरक्षा बढ़ाई

Khabar 30 din

कोरोना देश में:मरीजों का आंकड़ा 54 लाख के पार, इनमें 43 लाख से ज्यादा लोग ठीक हुए; कर्नाटक में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल; देश में अब तक 54.05 लाख केस

Khabar 30 din

राजस्थान में शादी में शामिल हुए 100 से ज्यादा लोग, तो देना पड़ेगा इतना बड़ा जुर्माना

Khabar 30 din

AC इकॉनमी कोच:कम किराए में मिलेगी फ्लाइट जैसी सुविधाएं, प्रयागराज, आगरा और झांसी मंडल को सौंपे गए 10 कोच; तस्वीरों में देखिए खूबियां

Khabar 30 din
error: Content is protected !!