ब्रेकिंग न्यूज़
img-20211112-wa0001_1636697096
प्रदेश मध्यप्रदेश सोशल मीडिया

MP पुलिस विभाग की अनूठी मुहिम:दुर्घटना में घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने पर मिलेगा 5 हजार रुपए इनाम

इंदौर

सड़क हादसों में घायल व्यक्ति को राहगीर द्वारा अस्पताल ले जाने में कई बार संकोच किया जाता है। होता यह है कि घायल व्यक्ति इलाज समय पर ना मिलने के कारण उसकी मौत हो जाती है। वहीं, आम व्यक्ति सोचता है कि यदि व्यक्ति को अस्पताल लेकर गए, तो पुलिस के बयान व कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ेंगे। इस कारण वह घायल की सहायता नहीं करता है। घायल व्यक्ति को सही समय पर इलाज ना मिलने के कारण उसकी मौत हो जाती है।

मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा एक अनूठी मुहिम चलाई गई है। इसके चलते घायल व्यक्ति को यदि राहगीर द्वारा सही समय पर अस्पताल ले जाया जाता है। घायल को अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को 5 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा। संबंधित व्यक्ति को अपना नाम सिर्फ अस्पताल के रजिस्टर में एंट्री करवानी होंगी। इसके बाद पुलिस द्वारा उसे पुरस्कृत किया जाएगा। वहीं, अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को अपना नाम सिर्फ अस्पताल के रजिस्टर में एंट्री करवानी होगी। इसके बाद पुलिस द्वारा उसे पुरस्कृत किया जाएगा।

एडिशनल एसपी अनिल पाटीदार ने बताया कि सड़क हादसे के बाद राहगीर द्वारा घायल को अस्पताल ले जाने में अमूमन संकोच किया जाता है। राहगीर के मन में केवल एक सवाल रहता है कि यदि घायल को अस्पताल लेकर गए, तो पुलिस और कोर्ट के चक्कर लगाने होंगे। इस कारण से वह घायल की मदद नहीं करता है। वहीं, इलाज के अभाव में घायल की मौत हो जाती है। इस कारण से मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा यह अनूठी मुहिम का आयोजन प्रदेश में किया जा रहा है।

वहीं, यातायात इंस्पेक्टर दिलीप परिहार ने बताया कि इंदौर में वर्ष 2021 में अब तक 350 मौत सड़क हादसे में हुई है। वहीं, इन आंकड़ों में बिना हेलमेट और सीट बेल्ट नहीं लगाने के कारण भी कई दुर्घटनाओं में मौत हुई है, लेकिन अमूमन देखा गया है। सड़क दुर्घटना में घायल को यदि समय पर अस्पताल ले जाए जाए। उसे प्राथमिक उपचार मिल जाए। इन मौत के आंकड़े में कमी आ सकती है।

वहीं, पुलिस विभाग द्वारा अब चौराहों पर स्कूलों में वह सभी जगह अलग-अलग सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित कर जनता को मुहिम से अवगत कराया जाएगा। जनता के मन में सबसे बड़ा भाई यह होता है कि यदि हादसे में घायल व्यक्ति को वह अस्पताल लेकर जाता है। अस्पताल व पुलिस के बयानों में वह उलझ जाता है। इस भ्रांति को भी पुलिस इस मुहिम के द्वारा उन्हें जानकारी प्रदान करेगी।

संबंधित पोस्ट

कोरोना ने इंसानियत को भी मारा:महिला की मौत के बाद गांव वालों ने मुंह मोड़ा, बुजुर्ग पति साइकिल पर लादकर शव ले गया; पुलिस की मदद से अंतिम संस्कार हुआ

Khabar 30 Din

अब कॉलेजों में कराया जाए HIV टेस्ट, मुख्यमंत्री ने दिए आदेश

Khabar 30 din

MP के सबसे बड़े अस्पताल में बड़ी लापरवाही:नर्सरी में भर्ती नवजात के पैर का अंगूठा और एड़ी चूहों ने कुतरा, मां दूध पिलाने गई तो पता चला

Khabar 30 din

यूपी: दूसरे ज़िले में ऑक्सीजन भेजने की ख़बर लिखने वाले तीन पत्रकारों को प्रशासन का नोटिस

Khabar 30 din

महाराष्ट्र सरकार ने रात्रि कर्फ्यू के बाद अब सभी जिला कलेक्टरों को दिया ये निर्देश

Khabar 30 din

चीन बना रहा सुपर ह्यूमन:52 देशों की 80 लाख गर्भवती महिलाओं के डेटा पर चल रही रिसर्च, अमेरिका को डर- अब नई बीमारी फैलाएगा चीन

Khabar 30 din
error: Content is protected !!