April 22, 2024 6:26 am

IAS Coaching
IAS Coaching
लेटेस्ट न्यूज़

हरियाणा: ज़मानत पर बाहर नूंह हिंसा के आरोपी ने पुलिस की मौजूदगी में शख़्स को छड़ी से पीटा

पुलिस ने बताया कि घटना 1 अप्रैल की है और जिस शख़्स को पीटा गया है, उसे लेकर लोगों को संदेह था कि वह दो बच्चियों का यौन उत्पीड़न करना चाहता था. बताया गया है कि स्थानीय स्तर पर हुए विवाद के बाद बिट्टू बजरंगी के समूह के लोग उस व्यक्ति को अपने एक नेता के घर ले गए थे, जहां उसे पीटा गया.

नई दिल्ली: पिछले साल हरियाणा के नूंह में हुई हिंसा के मामले में जमानत पर बाहर आए कथित गोरक्षक बिट्टू बजरंगी को एक व्यक्ति को छड़ी से पीटते हुए कैमरे में कैद किया गया है. यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

वीडियो में बजरंगी को एक व्यक्ति को छड़ी से पीटते हुए देखा जा सकता है, उसके उनके ‘गोरक्षक’ समूह के अन्य लोग उसे पकड़ रहे हैं. वीडियो में एक पुलिसकर्मी उस व्यक्ति के करीब खड़ा दिखाई दे रहा है, लेकिन वह मूकदर्शक बना हुआ है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया है कि वीडियो 1 अप्रैल का है और जिस शख्स की पिटाई हुई है वह फरीदाबाद के सरूरपुर का रहने वाला है. शामू नाम के व्यक्ति पर आरोप था कि उसने अपने पड़ोस की दो लड़कियों को चॉकलेट देकर अपने घर में बुलाया और स्थानीय लोगों को संदेह था कि वह उनका यौन शोषण करना चाहता था. उसके कुछ पड़ोसी घर में घुस आए और शामू को पकड़ लिया.

घटना की खबर फैल गई और बजरंगी के गोरक्षक समूह, गोरक्षक बजरंग फोर्स के सदस्य मौके पर पहुंचे और शामू को अपने साथ फरीदाबाद के संजय एन्क्लेव में अपने नेता के घर ले गए. बजरंगी के घर के बाहर के वीडियो में गोरक्षक, जो बजरंग दल का सदस्य भी है, एक छड़ी पकड़े हुए दिख रहा है और उसके समूह के अन्य लोग गिड़गिड़ाते शामू को जमीन पर घसीट रहे हैं.

एक पुलिसकर्मी उस आदमी से कुछ इंच की दूरी पर एक कुर्सी पर बैठा हुआ दिखाई देता है और वह उठता है, लेकिन कोई दखल नहीं देता है. फिर एक आदमी को दूसरों से शामू को अपनी तरफ लाने के लिए कहते हुए सुना जा सकता है और बजरंगी उर्फ ​​राज कुमार उसे छड़ी से मारने के लिए आगे बढ़ता है.

इसी बीच, इस मामले में पुलिस एनआईटी डीसीपी कुलदीप सिंह ने एनडीटीवी को बताया कि बिट्टू बजरंगी मामले में दो मुकदमे दर्ज किए गए हैं. एक मुकदमा बिट्टू बजरंगी और अन्य के खिलाफ दर्ज किया गया है. यह मामला पीटे गए शख्स की शिकायत पर दर्ज किया गया है.

उन्होंने कहा कि दूसरा मामला शामू के खिलाफ दर्ज किया गया है, जो दो बच्चियों को गलत नीयत से बहला-फुसलाकर अपने घर ले जा रहा था. साथ ही वीडियो में जो पुलिसकर्मी दिखाई दे रहा, वह बिट्टू बजरंगी का गनमैन है, जो पुलिस प्रशासन ने मुहैया कराया था, उसके खिलाफ भी अब कार्रवाई की जा रही है.

मालूम हो कि नूंह में पिछले साल 31 जुलाई को सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी, जब कथित तौर पर मुस्लिम समूहों ने हिंदू दक्षिणपं​थी समूहों के जुलूस पर हमला किया था. यह हिंसा गुड़गांव में भी फैल गई थी. 1 अगस्त को हिंसा के दौरान गुड़गांव के बादशाहपुर में कम से कम 14 दुकानें जला दी गईं, जिनमें अधिकांश मुसलमानों की थीं.

नूंह में हुई इस हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई थी और 88 अन्य घायल हो गए थे. पुलिस ने हिंसा मामले में गोरक्षक बिट्टू बजरंगी को गिरफ्तार किया था.

Leave a Comment

Advertisement