May 22, 2024 10:17 am

लेटेस्ट न्यूज़

गया से कोलकाता जा रही बस से 1.09 करोड़ रुपये जप्त-लोकसभा चुनाव से क्या है कनेक्शन

लोकसभा चुनाव में धनबल के उपयोग को लेकर चुनाव आयोग काफी सजग और सख्त है। इसी क्रम में जांच के दौरान गया से कोलकाता जा रही एक यात्री बस से पुलिस प्रशासन ने एक करोड़ 9 लाख 50 हजार रुपए बरामद किया है।

मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के अनुसार तीनों व्यक्ति बिहार के गया जिले के रहनेवाले हैं। इनमें गया के डुमरिया थाना क्षेत्र के नंदई निवासी चंदन कुमार, चंदौली थाना क्षेत्र के शिव नगर कॉलोनी निवासी अवधेश कुमार और रामपुर थाना अंतर्गत शास्त्रीनगर निवासी नवल किशोर सिन्हा शामिल हैं। पुलिस तीनों लोगों से पैसे के स्रोत के बारे में पूछताछ कर रही है।

गिरिडीह एसपी दीपक कुमार शर्मा ने गुप्त सूचना पर बगोदर एसडीपीओ धनंजय कुमार राम के नेतृत्व में टीम गठित की। इसके बाद वाहन चेकिंग शुरू की गई। बुधवार देर रात जीटी रोड औंरा चौक के पास वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया, जिसमें दो व्यक्तियों के पास से 67 लाख रुपए और एक के पास से 42 लाख 50 हजार रुपए बरामद किए गए।

राज्य के विभिन्न जिलों में जारी है वाहन चेकिंग अभयान लोकसभा चुनाव को लेकर राज्यभर में लगातार वाहनों की चेकिंग की जा रही है। गिरिडीह जिला प्रशासन भी लगातार कार्रवाई कर रहा है। इसके लिए एफएसटी (उड़नदस्ता दल) एवं एसएसटी (स्थैनिक निगरानी दल) का गठन किया गया है। जिसके द्वारा लगातार छापेमारी की जा रही है और इसी निमित यह कार्रवाई की गई है। कहा है कि पुलिस के द्वारा इस मामले को लेकर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

छापेमारी दल में एसडीपीओ धनंजय कुमार राम के अलावा एसडीएम विपिन कुमार दुबे, बीडीओ अजय कुमार वर्मा, थाना प्रभारी सुख सागर सिंह चौधरी, पुअनि जय प्रकाश कुमार, पुअनि अनुषेक कुमार एवं सशस्त्रत्त् दल के जवान शामिल थे। फिलहाल पुलिस के द्वारा इन रुपयों के बारे में छानबीन की जा रही है।

गया में युवकों के घर हुई जांच

गया से बंगाल जा रही बस में बगोदर के पास जांच में गया के तीन युवकों के पास से एक करोड़ नौ लाख रुपये जब्त किये गये। इस मामले में तीनो को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। वहीं, इस घटना के बाद इनके गया स्थित घर पर पुलिस व तकनीकी शाखा की टीम जांच करने पहुंची और परिजनों से पूछताछ की।

गोल्ड का काम करता है नवल किशोर जांच के दौरान जब रामपुर थानाध्यक्ष रवि कुमार दल बल के साथ शास्त्रत्त्ी नगर स्थित गुप्ता भवन में पहुंची। वहां नवल किशोर सिन्हा की मां व उसके चचेरे भाई से इस संबंध में पूछताछ की और उनके कमरे की जांच भी की। हालांकि इस दौरान पुलिस को जांच में कुछ नहीं मिल पाया। नवल किशोर सिन्हा की मां ने पुलिस को बताया कि वह अपने पति व बेटे के साथ एक साल से यहां किराये पर रह रही है। वहीं, उसके चचेरे भाई रोशन सिन्हा ने पुलिस को बताया कि उसका भाई गोल्ड के आभूषण का काम करते है। वह बुधवार की रात कोलकाता के लिए निकले थे। गुरुवार की सुबह उनलोगों को बगोदर पुलिस के द्वारा सूचना दी गयी कि नवल किशोर सिन्हा व दो अन्य लोग पकड़े गए है।

अवधेश कुमार साह है मोबाइल दुकान

वहीं, चंदौती थानाध्यक्ष रणविजय सिंह शिवनगर कॉलोनी स्थित अवधेश कुमार साह के घर जांच करने पहुंची। इस दौरान महिला व पुलिस बल के द्वारा घर के हर कमरे की जांच की गयी। वहां किसी प्रकार का कोई सामान नहीं मिला। वहीं, परिजनों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो परिजन ने बताया कि अवधेश कुमार साह से बुधवार की रात करीब दस बजे बात हुई थी। वह बोला था कि यहां से बस खुल गयी है। लोगों ने बताया कि वह तीन भाई है। एक भाई पहले से अगल रहते है। वही दो भाई मिलकर मोबाइल दुकान चलाते है। वह बुधवार को कोलकाता मोबाइल पार्टस व अन्य सामान लेने ही निकला था। सुबह सूचना मिली कि वह रुपये के साथ पकड़ा गया है। थानाध्यक्ष रणविजय सिंह ने बताया कि जांच में कुछ भी नहीं मिला है। परिजन को भी रुपये के मामले में जानकारी नहीं है।

चंदन धनबाद के किसी दुकान में करता है काम

वहीं तीसरा युवक चंदन कुमार जो डुमरिया का रहने वाला है। उसके बारे में भी लोगों ने बताया कि वह धनबाद में ही किसी दुकान में काम करता है। जबकि उसके पिता घर पर ही किराना दुकान खोले हुए है।

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement