April 22, 2024 5:27 am

IAS Coaching
IAS Coaching
लेटेस्ट न्यूज़

साड़ी है या मच्छरदानी, 17 रुपये की साड़ी बांटकर चली गई नवनीत राणा, चुनाव के पहले घिरी

लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों ने प्रचार अभियान शुरू कर दिया है। इस बीच महाराष्ट्र की अमरावती लोकसभा सीट को लेकर सियासी माहौल गर्म है। बीजेपी ने नवनीत राणा को अमरावती से अपना लोकसभा उम्मीदवार घोषित किया है।

नवनीत राणा ने कुछ दिन पहले मेलघाट में आदिवासी महिलाओं को साड़ियां बांटी थी। इस पर प्रहार पार्टी के नेता बच्चू कडू ने तीखा हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया कि महिलाओं ने साड़ियों की क्वालिटी को लेकर विरोध जताया था कि वो मच्छरदानी जितनी पतली साड़ियां बांटकर चलीं गई। बच्चू कडू ने आरोप लगाया कि दो करोड़ की गाड़ी में बैंठने वाले 17 रुपए की साड़ियां बांट रहे हैं।

अमरावती सीट पर बीजेपी आजतक जीत हासिल नहीं कर पाई है। इस बार बीजेपी ने नवनीत राणा को इस सीट पर उतारा है। राणा ने पिछले साल इस सीट पर निर्दलीय चुनाव जीता था। बीजेपी के खिलाफ प्रहार पार्टी ने दिनेश बूब की उम्मीदवारी की घोषणा की है। बच्चू कडू ने प्रहार उम्मीदवार दिनेश बूब के प्रचार के लिए आयोजित रैली में नवनीत राणा को निशाने पर लिया।

उन्होंने कहा कि नवनीत राणा ने मेलघाट में आदिवासी महिलाओं का अपमान किया है। उनका कहना है कि वहां महिलाओं ने शिकायत की कि उन्हें पारदर्शी साड़ियां बांटी गई। 2 करोड़ रुपये की कार में यात्रा करने वालों ने 17 रुपये की साड़ी बांटी है। बच्चू कडू ने कहा, “इस तरह से लोगों को गुलामी की ओर ले जाने की प्रथा को तोड़ना होगा। आप 17 रुपए की साड़ियां बांटकर वोट नहीं खरीद सकते।”

मामला क्या है
दरअसल, नवनीत राणा पिछले वर्षों की तरह होली मनाने मेलघाट में आदिवासी लोगों के बीच पहुंची। लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद उन्होंने महिलाओं को साड़ियां वितरित की। साथ ही आदिवासी महिलाओं के साथ होली का त्योहार मनाया। ऐसी रिपोर्ट हैं कि नवनीत राणा द्वारा बांटी गई साड़ियों को लेकर वहां की आदिवासी महिलाएं काफी नाराज थी। उन्होंने आरोप लगाया कि साड़ियों की क्वालिटी काफी खराब थी और वे मच्छरदानी की तरह लग रहीं थी। साड़ियों के वितरण कार्यक्रम के बाद मेलघाट में सियासी माहौल गर्माया हुआ है।

राणा को अमरावती सीट देने से नाराजगी
नवनीत राणा के खिलाफ मैदान में उतरे दिनेश बूब विधायक बच्चू कडू ने शुरू से मांग की थी कि राणा को अमरावती लोकसभा सीट से मैदान में नहीं उतारा जाना चाहिए। लेकिन बीजेपी ने राणा को मौका दिया जिससे बच्चू कडू नाराज हो गए। बच्चू कडू और राणा दंपत्ति के बीच विवाद पुराना है और एक-दूसरे पर लगातार हमलावर रहते हैं। इसीलिए बच्चू कडू ने नवनीत राणा के खिलाफ प्रहार पार्टी से दिनेश बूब को चुनावी मैदान में उतारा है। दिनेश बूब एकनाथ शिंदे की पार्टी शिव सेना के नेता थे। हालांकि अब वे बच्चू कडू के साथ प्रहार पार्टी में हैं। इस सीट पर शिवसेना के आनंदराव अडसुल भी मैदान में थे। हालांकि, बीजेपी ने यह सीट शिवसेना से लेकर नवनीत राणा की झोली में डाल दी है। सूत्रों का कहना है कि अडसुल भी बीजेपी के फैसले से नाराज चल रहे हैं।

Leave a Comment

Advertisement