June 16, 2024 11:39 pm

लेटेस्ट न्यूज़

फोन में ये बदलाव दिखें तो हो जाएं सतर्क: वर्ना फट सकता है मोबाइल

कई बार मोबाइल बहुत घातक भी साबित हो जाता है। मोबाइल में कई बार विस्फोट की घटनाएं देखने को मिलती हैं। मोबाइल में विस्फोट की घटनाएं ज्यादातर हमारी लापरवाही की वजह से भी हो जाती हैं।

मोबाइल में विस्फोट की ज्यादातर घटनाएं बैटरी फटने की वजह से होती हैं। ऐसे में आपको अपने मोबाइल की बैटरी का ध्यान रखना चाहिए। आपको मोबाइल फोन की बैटरी के फटने और उसके बचाव के बारे में बताने जा रहे हैं।

फोन में ये बदलाव दिखें तो हो जाएं सतर्क:

मोबाइल में कुछ संकेत मिलने के बाद सतर्क हो जाना चाहिए क्योंकि ये बैटरी खराब होने और बैटरी में ब्लास्ट होने के संकेत हो सकते हैं। अगर आपके फोन की स्क्रीन ब्लर हो रही है या स्क्रीन में पूरी तरह डार्कनेस आ गई है तो सतर्क हो जाएं। इसके अलावा अगर आपका फोन बार-बार हैंग हो रहा है और प्रोसेसिंग स्लो हो रही है तब भी आपके फोन में ब्लास्ट हो सकता है। अगर बात करते समय फोन सामान्य रूप से ज्यादा गर्म हो जाता है तो भी आपके फोन में ब्लास्ट होने की संभावना है।

इन वजहों से फटती है मोबाइल की बैटरी:

रिपोर्ट के अनुसार, मोबाइल चार्ज करते वक्त मोबाइल के आसपास रेडिएशन हाई रहता है। इस वजह से बैटरी गरम हो जाती है। ऐसे में मोबाइल चार्ज करते वक्त कई बार इसमें विस्फोट की संभावना रहती है। कई बार लोगों की गलतियों की वजह से भी बैटरी ओवरहीट होकर फट जाती है। इसके अलावा बैटरी के सेल डेड होते रहते हैं जिससे फोन के अंदर के केमिकल में बदलाव होते रहते हैं, जिससे बैटरी फट जाती है।

 mobile blast reasons

ऐसे चेक करें बैटरी खराब है या नहीं:

अगर आपके पास फोन की बैटरी रिमूव करने का विकल्प है तो बैटरी को एक टेबल पर रखें। इसके बाद इसे घुमाकर देखें, यदि बैटरी फूली हुई है तो तेज घूमेगी। अगर बैटरी तेज घूमती है तो इसका इस्तेमाल करना बंद कर दें। जिन स्मार्टफोन में इनबिल्ट बैटरी होती है, उन्हें हीट से ही पहचाना जा सकता है। अगर फोन गरम हो रहा है तो चेक करवाएं। 20 फीसद बैटरी रहते हुए ही फोन को चार्ज पर लगा दें। साथ ही बैटरी पूरी खत्म न होने दें। पूरी बैटरी खत्म होने के बाद चार्ज पर लगाने में ज्यादा पावर सप्लाई की जरूरत होती है. इसकी वजह से भी बैटरी ब्लास्ट हो सकता है।

भूलकर भी ना करें ऐसी गलतियां:

कभी भी डुप्लीकेट चार्जर, बैटरी का इस्तेमाल न करें। जिस ब्रांड का स्मार्टफोन या मोबाइल फोन इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसी ब्रांड का चार्जर इस्तेमाल करें। कभी भी चार्जर के पिन को भींगने न दें. पिन के सूख जानें के बाद ही इसे चार्ज पर लगाएं। फोन की बैटरी खराब होने पर उसे तुरंत बदल दें। हमेशा ऑरिजिनल बैटरी का ही इस्तेमाल करें। इसके साथ ही फोन को कभी भी 100 फीसद चार्ज न करें। इसलिए फोन को 80 से 90 फीसद ही चार्ज करें। इससे ज्यादा चार्ज करने पर फोन ओवरचार्ज हो सकता है और ब्लास्ट होने की संभावना बढ़ जाती है।

Leave a Comment

Advertisement