June 17, 2024 1:15 am

लेटेस्ट न्यूज़

लोकसभा चुनाव 2024-5th फेज में 58.96% वोटिंग, पश्चिम बंगाल में सबसे ज़्यादा वोटिंग

लोकसभा चुनाव 2024 का कारवां अब अपने मंजिल के एक कदम और करीब पहुंच गया है. इसी कड़ी में पांचवें चरण की वोटिंग सोमवार, 20 मई को खत्म हुई. 6 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों की 49 सीटों पर जनता ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

इस चरण में 695 उम्मीदवारों के भाग्य के फैसला ईवीएम में कैद हुआ.

वोटर टर्नआउट के आंकड़ों के अनुसार, 49 सीटों पर रात 10 बजे तक 58.96 वोटिंग हुई है.

पांचवें चरण के खत्म होने के साथ देश की कुल 543 लोकसभा सीटों में से 428 पर वोटिंग हो चुकी है. इस चरण के साथ महाराष्ट्र में भी चुनावी प्रक्रिया खत्म हो चुकी है.

चलिए आपको यहां बताते हैं कि पांचवें फेज में जिन 49 सीटों पर वोट डाले गए, वहां वोटिंग पर्सेंट क्या रहा? ये आंकड़े क्या बता रहे हैं? यहां कौन-कौन सी हॉट सीट थीं और उन पर वोटरों में दिखा रुझान दिग्गजों के लिए राहत की खबर लेकर आया या नहीं?

सबसे पहले बताते हैं कि पांचवें चरण में किन राज्यों की कितनी सीटों पर वोट डाले गए.

  • महाराष्ट्र की 13 सीट
  • बिहार की 5 सीट
  • जम्मू & कश्मीर की एक सीट
  • झारखंड की 3 सीट
  • लद्दाख की एक सीट
  • ओडिशा की 5 सीट
  • उत्तर प्रदेश की 14 सीट
  • पश्चिम बंगाल की 7 सीट

लोकसभा मतदान के साथ- साथ ओडिशा में विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे और आखिरी चरण के भी वोट डाले गए. ओडिशा में 35 विधानसभा सीटों पर वोटिंग हुई.

2019 में इन 49 सीटों पर किसने किया था कब्जा?

2019 में सत्तारूढ़ NDA में शामिल पार्टियों ने इन 49 सीटों में से 34 सीटों पर कब्जा जमाया था जबकि विपक्षी गुट INDIA ब्लॉक की पार्टियों के पाले में केवल 6 सीटें आईं. बाकी बची 9 सीटों पर क्षेत्रीय दलों को जीत मिली. इसमें से 7 अविभाजित शिवसेना और 2 बीजेडी ने जीते थे.

अगर बीजेपी और कांग्रेस के प्रदर्शन की तुलना करें तो अकेले बीजेपी ने इनमें से 32 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि कांग्रेस सिर्फ 1 सीट पर जीत के साथ बहुत पीछे रही. यह सीट पार्टी के गढ़ रायबरेली की थी जहां से सोनिया गांधी जीती थीं.

वहीं वोट शेयर की बात करें तो वोट, NDA में शामिल पार्टियों को 42.85% वोट मिले जबकि इंडिया ब्लॉक पार्टियों को 28.83% वोट मिले. इनमें शिवसेना के वोट शामिल नहीं है क्योंकि तब पार्टी दो गुटों में बंटी नहीं थी.

अब बात करते हैं राज्यवार पांचवें चरण में वोट परसेंट के आंकड़े की, यानी कहां कितनी वोटिंग हुई.

वोटिंग पर्सेंट क्या बता रहा?

2019 के लोकसभा चुनावों में इन 49 सीटों पर पड़े वोट की तुलना में जानते हैं कि इस बार कितनी वोटिंग हुई है?

महाराष्ट्र

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में महाराष्ट्र में 13 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ. इनमें से 6 सीटें मुंबई की थीं. इसके साथ राज्य में चुनावी प्रक्रिया खत्म हो गई है जो पांच चरणों में आयोजित की गई है. यहां मुख्य मुकाबला दो गठबंधन के बीच है- महायुति और महाविकास अघाड़ी. महायुति में बीजेपी, शिवसेना (शिंदे गुट) और एनसीपी (अजीत गुट) शामिल है. जबकि विपक्षी गठबंधन महाविकास अघाड़ी में शिव सेना (उद्धव गुट), कांग्रेस और एनसीपी (शरद गुट) शामिल है.

2019 के चुनाव में शिवसेना और एनसीपी बंटी नहीं थी.

2019 के चुनाव में इन 13 सीटों में से शिव सेना (अविभाजित) ने 7 पर जीत हासिल की थी जबकि बीजेपी के पाले में 6 सीटें आईं.

2019 के चुनाव में महाराष्ट्र की इन 13 सीटों पर वोटिंग परसेंट 55.87% रहा था. इस बार रात 10 बजे तक यह आंकड़ा 53.34% रहा.

अगर यहां की हॉट सीटों की बात करें तो पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को बीजेपी ने मुंबई उत्तर लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे श्रीकांत शिंदे कल्याण सीट से लगातार तीसरी बार चुनावी मैदान में हैं. मुंबई उत्तर-मध्य सीट पर भी एक और हाई-वोल्टेज मुकाबला है. यहां से बीजेपी ने पूर्व सरकारी वकील उज्ज्वल निकम को टिकट दिया है. निकम ने अजमल कसाब जैसे हाई-प्रोफाइल मामलों को संभाला है.

राजनीति में यह माना जाता है कि अगर पिछली बार की अपेक्षा वोटिंग में गिरावट हुई है तो लोग शासन के मौजूदा रूप को बदलने में उतने उत्साहित नहीं हैं. वहीं वोटिंग अगर ज्यादा होती है तो माना जाता है कि लोग सरकार बदलने के लिए बड़ी संख्या में सामने आए हैं. हालांकि भारत में यह हर बार सही नहीं होता. 1951-52 से लेकर 2019 तक 17 लोकसभा चुनाव हुए हैं. 1957 से 2019 तक (पहले चुनाव को छोड़कर) 16 लोकसभा चुनावों में वोटिंग पर्सेंटेज छह बार गिरा और 10 बार बढ़ा लेकिन इनमें से मौजूदा सरकारें 8 बार फिर से सत्ता में आई और इतनी ही बार बदली गईं.

उत्तर प्रदेश

पांचवें चरण में यूपी में मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, जालौन, झांसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, बाराबंकी, कौशांबी, फैजाबाद, कैसरगंज और गोंडा में वोट डाले गए. अगर रायबरेली छोड़ दें तो बाकी की बची 13 सीटों पर बीजेपी को 2019 में जीत हासिल हुई थी. सबसे बड़ी जीत अमेठी की थी जहां केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को हराया था.

2019 के चुनाव में यूपी की इन 14 सीटों पर वोटिंग परसेंट 58.46% रहा था. इस बार रात 10 बजे तक यह आंकड़ा 57.79% रहा.

यूपी में इस चरण में मैदान में उतरे कुछ प्रमुख उम्मीदवारों की बात करें तो सबकी नजर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर है जो सोनिया गांधी की सीट रायबरेली से चुनाव लड़ रहे हैं. स्मृति ईरानी अमेठी से फिर ताल ठोंक रही हैं. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से और बृज भूषण शरण सिंह के बेटे करण भूषण सिंह कैसरगंज से मैदान में हैं. गौरतलब है कि भारतीय कुश्ती महासंघ के पूर्व अध्यक्ष बृज भूषण पर कई महिला पहलवानों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था जिसके बाद बीजेपी ने उनकी जगह उनके बेटे पर दांव लगाया है.

बिहार

40 लोकसभा सीटों वाले बिहार में पांचवें चरण में 5 सीटों पर वोट डाले गए- मुजफ्फरपुर, सारण, सीतामढ़ी, हाजीपुर और मधुबनी. 2019 में इन सभी पर एनडीए गठबंधन को जीत हासिल हुई थी (3 बीजेपी, 1 एलजेपी और 1 जेडीयू). इस बार तेजस्वी यादव की आरजेडी के लिए बहुत कुछ दांव पर लगा है.

2019 के चुनाव में बिहार की इन 5 सीटों पर वोटिंग परसेंट 57.23% रहा था. इस बार रात 10 बजे तक यह आंकड़ा 53.55% रहा.

अगर बिहार के अंदर पांचवें चरण की हॉट सीट की बात करें तो सारण सीट पर इस बार लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य मैदान में हैं. उनका मुकाबला मौजूदा सांसद राजीव प्रताप रूडी से है. रूडी यहां से लगातार दो चुनाव जीत चुके हैं. वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की सीट हाजीपुर से उनके भाई पशुपति पारस की जगह इस बार बेटे चिराग पासवान मैदान में हैं. चिराग 2014 और 2019 में जमुई से लोकसभा जा चुके हैं.

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में पांचवें चरण में सात लोकसभा सीटों पर वोट डाले गए- आरामबाग, बनगांव, बैरकपुर, हावड़ा, हुगली, सेरामपुर और उलुबेरिया. 2014 में इन सभी 7 सीटों पर जीत हासिल करने वाली ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को 2019 में बीजेपी से कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ा. 2019 में बीजेपी ने 7 में से 3 सीट अपने पाले में कर लिए थे.

2019 के चुनाव में पश्चिम बंगाल की इन 7 सीटों पर वोटिंग परसेंट 80% रहा था. इस बार रात 10 बजे तक यह आंकड़ा 73.14% रहा.

यहां इस चरण में सबसे हॉट सीट हुगली मानी जा रही है. यहां दो अभिनेत्री उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है. बीजेपी ने अपनी वर्तमान सांसद अभिनेत्री लाकेट चटर्जी को दोबारा मैदान में उतारा है. जबकि तृणमूल कांग्रेस ने भी यहां एक अभिनेत्री रचना बनर्जी को ही टिकट दिया है.

इसके अलावा एक हॉट सीट जम्मू-कश्मीर में भी है- बारामूला: यहां से नेशनल कॉन्फ्रेंस की तरफ से उमर अब्दुल्ला चुनाव लड़ रहे हैं. उनके सामने पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन मैदान में हैं.

आखिर में एक बात और. इसमें पोस्टल बैलेट से डाले हुए वोट शामिल नहीं हैं. वोटिंग परसेंट का आंकड़ा आगे और बढ़ेगा.

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement