June 23, 2024 2:14 pm

लेटेस्ट न्यूज़

फर्जी कागजातों पर कार व होम लोन लेकर बैंकों को करोड़ों का चूना लगाने वाले जालसाज दंपति गिरफ्तार

उत्तरी जिले की तिमारपुर पुलिस ने फर्जी कागजातों पर कार व होम लोन लेकर बैंकों को करोड़ों का चूना लगाने वाले जालसाज दंपति को गिरफ्तार किया है। इनके नाम दीपक गोयल और चंचल गोयल बताए गए हैं।

सेक्टर 18 रोहिणी निवासी दंपति ने एक ताजा मामले में इलाहाबाद बैंक को भी 49 लाख का चूना लगाया था।

डीसीपी मनोज कुमार मीना के अनुसार, इंडियन बैंक के मुख्य प्रबंधक संजीव कुमार ने तिमारपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें कार लोन के नाम पर चंचल गोयल नाम की महिला के ऊपर धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया था। बताया गया कि इंडियन बैंक (पहले इलाहबाद बैंक) की ओर से चारु मोटर्स के नाम पर जो डिमांड ड्राफ्ट जारी हुआ, वह एचडीएफसी बैंक जयपुर में जमा किया गया।

चंचल गोयल ने दीपक गोयल और विनय अग्रवाल के साथ मिलकर चारु मोटर्स के नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार कर इंडियन बैंक में कार लोन के लिए अप्लाई किया था। बाद में 18.25 लाख रुपये बैंक द्वारा चारु मोटर्स के अकाउंट में ट्रांसफर किए गए। इस तरह इंडियन बैंक से फर्जी दस्तावेजों के जरिए तीन बार फर्जी कार लोन लिया गया। कार लोन आवेदन में दीपक गोयल और विनय अग्रवाल गारंटर बने थे।

टेक्निकल सर्विलांस की मदद से दबोचा

पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की, तो पता चला कि आरोपियों ने जो पते दिए थे, वे फर्जी थे। 18.25 लाख रुपये टी एंड टी मोटर्स (मुंबई) पुष्पेन्द्र सिंह के अकाउंट में भेजे गए थे। टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पुलिस ने चंचल गोयल को ट्रेस कर रोहिणी इलाके से पकड़ा। बाद में पुलिस को पता चला कि आरोपी दीपक गोयल पहले से तिहाड़ जेल में बंद है। इसके बाद पुलिस ने कोर्ट से अनुमति लेकर मामले में आरोपी की गिरफ्तारी दिखाई।

पूछताछ में किया खुलासा

आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंकों से लोन हासिल करते थे। यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी दंपति प्रॉपर्टी गिरवी रख कई बार फर्जी होम लोन भी ले चुका था। सीबीआई ने मुकदमा दर्ज कर इस केस में आरोपी दंपति को उनके सहयोगियों के साथ अरेस्ट भी किया था। इस मामले में आरोपी दंपति ने होम लोन के नाम पर पंजाब और सिंध बैंक को साढ़े चार करोड़ रुपये की चपत लगाई थी।

करोड़ों रुपये की कर चुके धोखाधड़ी

आरोपी दीपक गोयल मूलरुप से भिवानी हरियाणा का रहने वाला है। वह महज 12वीं कक्षा तक पढ़ा है। यह पहले प्रॉपर्टी डीलर था। इस पर उत्तम नगर में पहली बार 30 करोड़ की चीटिंग का केस बना था। यह सीबीआई समेत 16 मामलों में शामिल रहा है। सिर्फ दिल्ली ही नहीं, राजस्थान और हरियाणा में भी यह ठगी व जालसाजी कर चुके थे। चंचल गोयल ने स्नातक तक पढ़ाई की है। यह भी पांच मामलों में शामिल पाई गई है।

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement