May 22, 2024 11:39 am

लेटेस्ट न्यूज़

छत्तीसगढ़ के कोरबा वन मंडल के कुदमुरा रेंज में घूम रहे 39 हाथियों का लगातार उत्पात जारी-वन अमला खामोश क्यों

कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा वन मंडल के कुदमुरा रेंज में घूम रहे 39 हाथियों ने 7 दिनों के अंदर 23 किसानों के धान के फसल को बर्बाद कर दिया। इससे ग्रामीणों को काफी नुकसान हुआ। वहीं ग्रामीण भारी आक्रोश में हैं।

दहशत के मारे वे रतजगा करने को मजबूर हैं। वहीं वन विभाग भी हाई अलर्ट पर है।

मिली जानकारी के अनुसार, 39 हाथियों ने कुदमुरा रेंज के लबेद और बैगामार में गुरुवार रात 10 किसानों के धान की फसल को नुकसान पहुंचाया है। हाथियों का दल इस जंगल में पिछले कई दिनों से विचरण कर रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि, हाथियों को धान खाने की आदत पड़ गई है इसी वजह से अक्सर हाथी इस इलाके में आते रहते हैं।

छेड़छाड़ करने पर आक्रोशित हो जाते हैं हाथी

ग्रामीणों ने बताया कि, हाथियों के साथ छेड़छाड़ करने पर वे आक्रोशित हो जाते हैं और नुकसान पहुंचाते हैं। ग्रामीणों की कोशिश रहती है कि, वे तुरंत वन विभाग को इसकी जानकारी दें। फिर वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी ही हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ते हैं।

वन मंडल में 49 हाथियों का दल कर रहा है विचरण

कटघोरा वन मंडल में 49 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। कापा, नवापारा और लालपुर में 40 हाथी मौजूद हैं। 9 हाथी एतमानगर में घुम रहे हैं। हाथियों का दल गांव के पास पहुंच रहा है इससे ग्रामीण दहशत में हैं।

क्या अलर्ट मोड पर है वन विभाग? 

हाथी कई बार गांव से लगे मुख्य सड़क तक पहुंच जाते हैं, जिसके चलते आवाजाही भी काफी समय तक बाधित हो जाती है। हालांकि, अभी तक किसी भी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई है। वन विभाग ने बताया कि, हाथियों के दस्तक के बाद से विभाग अलर्ट पर है। गांवों में भी मुनादी कराकर लोगों को जंगल की तरफ जाने से मना किया गया जा रहा है। वही इस मामले को लेकर ग्रामीण वन विभाग के दावों को खोखला बता रहे है।

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement