April 22, 2024 5:34 am

IAS Coaching
IAS Coaching
लेटेस्ट न्यूज़

बिरनपुर हिंसा मामला : छत्तीसगढ़ सरकार सीबीआई जांच की सिफारिश करेगी

छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा ने बुधवार को विधानसभा में घोषणा की कि राज्य सरकार पिछले वर्ष बेमेतरा जिले में सांप्रदायिक हिंसा के दौरान 22 वर्षीय युवक भुनेश्वर साहू की हत्या की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की सिफारिश करेगी।

शर्मा ने यह घोषणा तब की जब भुनेश्वर साहू के पिता ईश्वर साहू ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के माध्यम से सदन में यह मामला उठाया। ईश्वर साहू भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक हैं।

ईश्वर साहू ने कहा, ”पिछले वर्ष आठ अप्रैल को साजा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत बिरनपुर गांव में भुनेश्वर साहू (उनके बेटे) की हत्या कर दी गई थी और इस घटना में 36 आरोपियों के नाम सौंपे जाने के बावजूद इस मामले में केवल 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।”

अपने जवाब में, शर्मा ने घटना का जिक्र किया और कहा कि यह अद्भुत संयोग है कि भुनेश्वर साहू के पिता अपने बेटे की हत्या के लिए न्याय की लड़ाई लड़ते हुए इस सदन में पहुंचे हैं।

उन्होंने कहा कि इस मामले में अब तक 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और 13 सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है।

इसके बाद, साहू ने पूछा कि क्या घटना की सीबीआई से जांच का आदेश दिया जाएगा।

गृह विभाग का जिम्मा भी संभाल रहे शर्मा ने कहा, ”मामले की जांच एसआईटी बनाकर की जा रही है। लेकिन आज मैं सदन में घोषणा करता हूं कि इस घटना की सीबीआई से जांच करायी जाएगी।”

इसके बाद, वरिष्ठ भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि (भुनेश्वर साहू की हत्या के दो दिन बाद) इलाके में एक विशेष समुदाय के दो लोगों की भी हत्या कर दी गई थी।

चंद्राकर ने पूछा कि क्या सीबीआई जांच में इस घटना को भी शामिल किया जाएगा ताकि यह पता चल सके कि दोनों की हत्या पहले की घटना की प्रतिक्रिया में हुई थी या इसके पीछे कोई साजिश थी।

शर्मा ने कहा कि दो लोगों की हत्या के मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था और आरोप पत्र पहले ही अदालत में दायर किया जा चुका है, इसलिए सीबीआई जांच में केवल भुनेश्वर साहू की हत्या शामिल होगी।

पिछले वर्ष चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा ने बिरनपुर गांव में हुई सांप्रदायिक हिंसा की घटना को लेकर तत्कालीन कांग्रेस नीत राज्य सरकार पर तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया था तथा साजा सीट से भुनेश्वर साहू के पिता ईश्वर साहू को चुनाव मैदान में उतारा था।

साहू ने चुनाव में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और मंत्री रवींद्र चौबे को हराया था। भुनेश्वर साहू (22) की आठ अप्रैल को बिरनपुर में दो समुदायों के स्कूली बच्चों के बीच विवाद के बाद भड़की हिंसा में मौत हो गई थी। उसके बाद 11 अप्रैल को, बिरनपुर निवासी रहीम मोहम्मद (55) और उनके बेटे इदुल मोहम्मद (35) की गांव से कुछ किलोमीटर दूर हत्या कर दी गई थी।

गांव में तनाव के कारण जिला प्रशासन ने दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी थी, जो लगभग 20 दिनों तक जारी रही।

Leave a Comment

Advertisement