May 22, 2024 10:01 am

लेटेस्ट न्यूज़

साधु के भेष में आरोपी को पकड़ने पुलिस ने लगाया भंडारा, फिर ऐसे पकड़ में आया आरोपी

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 27 साल से कत्ल के आरोप में फरार चल रहे टिल्लू नाम के 77 साल के एक बुजुर्ग शख्स को ऋषिकेश से गिरफ्तार किया है. पुलिस से बचने के लिए कत्ल का आरोपी साधू का भेष बनाकर घूम रहा था.

आरोपी तक पहुंचाने के लिए पुलिस कभी भंडारे लग रही थी, तो कभी धार्मिक जगहों के चक्कर काट रही थी. आरोपी 27 साल से दिल्ली पुलिस को चकमा दे रहा था. वो बार बार अपने नाम बदलता, ठिकाने बदलता, ताकि पुलिस उसे ट्रैक न कर पाए.

पुलिस के मुताबिक, टिल्लू के खिलाफ साल 1996 में दिल्ली के ओखला थाने में कत्ल का केस दर्ज हुआ था. दरअसल, 4 फरवरी 1996 को ओखला में किशन लाल नाम के एक शख्स की खून से लथपथ लाश मिली थी. इसी किशन लाल के कत्ल के मामले में पुलिस को टिल्लू की तलाश थी.

भगोड़ा घोषित कर दिया था पुलिस ने

केस दर्ज करने के कुछ साल तक, तो पुलिस ने टिल्लू को कई जगहों पर तलाशा. खासतौर से टिल्लू के गृह नगर कानपुर और आस-पास के इलाकों में. मगर, टिल्लू का कहीं कोई सुराग नहीं मिला. उस वक्त न तो सीसीटीवी हुआ करते थे और न ही मोबाइल फोन. इसलिए पुलिस को टिल्लू का कोई सुराग नहीं मिल रहा था. बाद में कोर्ट ने टिल्लू को भगोड़ा घोषित कर दिया था.

कन्याकुमारी से पुणे तक मिली लोकेशन

क्राइम ब्रांच के डीसीपी अमित गोयल के मुताबिक, उनकी टीम समय-समय पर ऐसे भगोड़ों की तलाश करती रहती है. ऐसे में ही 2023 में पुलिस को जानकारी मिली की टिल्लू कन्याकुमारी में है. दरअसल, पुलिस को टिल्लू के परिवार के कुछ मोबाइल नंबर मिले थे. उन नंबरों को जब पुलिस ने खंगाला, तो पता लगा कि एक मोबाइल की लोकेशन बार-बार बदलती रहती है.

जांच में ये भी सामने आया कि ये नंबर ज्यादातर बंद रहता है. अब पुलिस ने इस नंबर को ट्रैक करना शुरू किया. कन्याकुमारी के बाद ये नंबर पुरी उड़ीसा में एक्टिव हुआ फिर बंद हो गया. पुलिस को पता चला कि टिल्लू ज्यादातर समय धार्मिक स्थानों पर ही रहता है और धर्मशाला में रुकता है.

ऋषिकेश में पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस बीच क्राइम ब्रांच को पता लगा की टिल्लू का नंबर ऋषिकेश में एक्टिव हुआ है. इसके बाद पुलिस ऋषिकेश पहुंच गई. पुलिस के पास टिल्लू की कोई फोटो भी नहीं थी. इसलिए पुलिस ने आस-पास के लोगों से पूछताछ शुरू की. लोगों के ज्यादा संपर्क में आने के लिए पुलिस ने ऋषिकेश में मंदिर के पास भंडारे भी लगाए. इस बीच पुलिस को पता चला कि टिल्लू घाट नंबर तीन के पास के है. इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की. पहचान के बाद पुलिस ने टिल्लू को गिरफ्तार कर लिया.

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement