June 17, 2024 12:17 am

लेटेस्ट न्यूज़

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने चुनाव आयोग में जमा किया अपना जवाब

कांग्रेस नेता जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने अपने जवाब में 150 जिलाधिकारियो/ रिटर्निंग ऑफिसर और असिस्टेंट रिटर्निंग ऑफिसर की जगह 150 officials का जिक्र, इसके अलावा जवाब में गृह मंत्री की तरफ से दबाव बनाने का जिक्र नहीं।

जयराम रमेश ने अपने जवाब में न तो officials के नाम का जिक्र किया है और जिनकी तरफ से दबाव दिया जा रहा है न तो उनका जिक्र किया है वहीं जवाब में गुजरात, उड़ीसा, यूपी, बिहार,आंध्र प्रदेश, बंगाल और झारखंड में officials पर दबाव बनाने का जिक्र।

गौर हो कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने आरोप लगाया था कि गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मंगलवार को होने वाली मतगणना से पहले जिला अधिकारियों को कॉल किए और उन्हें धमकाया वहीं इसके एक दिन बाद रविवार को चुनाव आयोग (EC) ने कहा कि किसी भी अधिकारी ने किसी भी तरह के “अनुचित दबाव” बनाए जाने की सूचना नहीं दी थी।

जयराम रमेश ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा था- ‘निवर्तमान गृह मंत्री आज सुबह से जिला कलेक्टर्स से फोन पर बात कर रहे हैं, अब तक 150 अफसरों से बात हो चुकी है..

ध्यान रहे कि जयराम रमेश ने गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाया था कि उन्होंने 150 डीएम को मतगणना से पहले कॉल किया है। चुनाव आयोग ने इसी दावे को लेकर जयराम रमेश से सबूत मांगे थे जिसके लिए जयराम ठाकुर ने समय मांगा था, इस पर जवाब देते हुए चुनाव आयोग ने साफ कर दिया है, कोई एक्स्ट्रा समय नहीं मिलेगा, आज ही जवाब देना होगा।

सोमवार शाम तक देना था जवाब

चुनाव आयोग ने इस आरोप पर जवाब देने के लिए एक हफ्ता समय देने के जयराम रमेश के निवदेन को खारिज कर दिया था। दरअसल चुनाव आयोग ने आज सोमवार 7 बजे तक जवाब मांगा था लेकिन जयराम ने सफाई देने के लिए एक हफ्ता बढ़ाने की मांग की थी। जिसे खारिज करते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि आज शाम तक जयराम ने जवाब नहीं दिया तो उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जायेगी।

चुनाव आयोग ने भेजा था नोटिस

इस आरोप पर संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने रविवार को रमेश से उनके दावे के समर्थन में विस्तृत जानकारी साझा करने को कहा। चुनाव नतीजों से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) राजीव कुमार ने भी कांग्रेस नेता द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि “अफवाह फैलाना” और “हर किसी पर संदेह करना सही नहीं है।” हमें बताएं कि यह किसने किया। हम उस व्यक्ति को दंडित करेंगे जिसने ऐसा किया। उन्हें वोटों की गिनती से पहले विवरण बताना चाहिए। यह सही नहीं है कि आप अफवाह फैलाएं और हर किसी पर संदेह करें।”

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement