June 17, 2024 12:46 am

लेटेस्ट न्यूज़

नीतीश को लेकर मीडिया में बढ़ी हलचल…तो JDU की आई पहली प्रतिक्रिया

लोकसभा चुनाव 2024 की 542 सीटों पर वोटों गिनती जारी है। अब तक के रूझानों में NDA की सरकार बनती दिख रही है। मगर बीजेपी अकेले बहुमत से दूर है। ऐसे में जोड़-तोड़ की राजनीतिक भी चर्चा शुरू हो गई।

बिहार में भी लोकसभा चुनाव की 40 लोकसभा सीटों पर गिनती जारी है। अब तक के रूझानों में बिहार में JDU सबसे आगे चल रही है। ऐसे में चर्चा ये शुरू हो गई क्या नीतीश फिर से पलटी मार लेंगे?

बिहार की सभी 40 सीटों पर वोटों की गिनती जारी है। शुरुआती रूझानों में बिहार में NDA बढ़त बना चुकी है अभी तक जो चुनाव आयोग द्वारा आंकडे़ जारी किए हैं उसके मुताबिक 40 में से 32 सीटों पर NDA आगे हैं वहीं इंडी गठबंधन 6 सीटों पर आगे है। दो सीटों पर अन्य आगे हैं। अब तक के आंकड़े ये भी बता रहे हैं कि बीजेपी अकेले दम पर सरकार नहीं बना सकती है। INDI गठबंधन NDA को कांटे की टक्कर दे रही है। ऐसे में बीजेपी के लिए अपनी सहयोगी पार्टी को बचाना एक चुनौती होगी।

केसी त्यागी का बयान से बढ़ी हलचल

मतगणना के बीच ये भी चर्चा शुरू हो गई कि नीतीश कुमार क्या फिर पलटी मार देंगे। क्या नीतीश INDI गठबंधन का हाथ दोबारा थाम लेंगे। इन चर्चाओं के बीच JDU नेता केसी त्यागी का बयान सामने आया है। केसी त्यागी ने कहा, नीतीश कुमार कल प्रधानमंत्री मोदी से मिलकर पटना लौटे हैं। हम अपने पुराने स्टैंड पर कायम हैं। JDU नीतीश कुमार के नेतृत्व में फिर एक बार NDA में अपनी आस्था का इजहार करता है और हम NDA में ही बने रहेंगे।

मनोज झा ने दिया बड़ा इशारा

बता दें कि RJD नेता मनोज झा ने इशारों-इशारों में इस बात संकेत भी दे दिया। मनोज झा ने कहा, कि भाजपा की कुल सीटें 220-230 पर जा रही हैं। बहुमत से अभी भी दूर हैं। अगर मैं चंद्रबाबू नायडू की पार्टी TDP और यहां JDU को थोड़ा विलग कर दूं तो बहुमत भी नहीं है। जाहिर है वे 400 पार का गुब्बारा फट गया है।

नीतीश पर टिकी सबकी निगाहें

मतगणना के बीच जोड़-तोड़ की राजनीति पर चर्चा जारी है। बता दें कि नीतीश कुमार ही INDI गठबंधन के सूत्रधार थे। बीजेपी से मुकाबला करने के लिए सभी दलों को एक साथ लाने का काम किया था। मगर नीतीश को गठबंधन वो पद और सम्मान नहीं मिला जो नीतीश चाहते थे। ऐसे में उन्होंने अपना निर्णय बदलते हुए फिर NDA में वापसी करने का फैसला लिया। अब चर्चा है कि अगर इंडी को सरकार बनाने के लिए नीतीश के साथ की जरूरत होगी तो वो हाथ मिलाने की कोशिश जरूर करेंगे। वहीं, बीजेपी नीतीश को वापसी का मौका नहीं देंगी। ऐसे में सबकी निगाहें सुशासन बाबू पर एक बार फिर टिक गई है।

Khabar 30 Din
Author: Khabar 30 Din

Leave a Comment

Advertisement